गूगल ने काले जोड़े को बताया 'गोरिल्ला'

गूगल एप के जरिए अपलोड की गई तस्वीर इमेज कॉपीरइट Other

गूगल ने एक काले जोड़े को ग़लती से 'गोरिल्ला' बताने वाले अपने नए फ़ोटो एप को लेकर खेद जताया है और माफ़ी मांगी है.

ये एप अपलोड की जाने वाली तस्वीरों को अपने कृत्रिम इंटेलीजेंस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हुए खुद ही टैग कर देता है.

ग़लती गंभीर

इस ग़लती की तरफ गूगल का ध्यान न्यूयॉर्क के एक सॉफ्टवेयर डेवलेपर ने दिलाया. वो उस तस्वीर में दिखाए गए लोगों में से एक थे.

इस पर गूगल के एक्ज़ीक्यूटिव योनाथन ज़ुनजर ने ट्वीट किया,"ये 100 फीसदी सही नहीं है. ये मेरी बग्स की लिस्ट में सबसे ऊपर है. आप ऐसा होता कभी नहीं देखना चाहते."

उन्होंने कहा कि ऐसी ग़लती दोबारा न हो, इसके लिए गूगल ने ज़रुरी कदम उठाए हैं.

ये पहला मौका नहीं है जब गूगल फोटोज़ ने एक प्रजाति को गलती से दूसरी प्रजाति के तौर पर बताया हो.

मई के महीने में न्यूज़ साइट आईटेक पोस्ट ने बताया था कि ये एप कुत्तों की तस्वीरों पर घोड़ा दर्ज कर रहा है.

उठाए कदम

इमेज कॉपीरइट Other

हालांकि, गूगल ने हालिया ग़लती के लिए संवेदनशीलता को कारण माना है.

गूगल के एक प्रवक्ता ने बीबीसी से कहा,"हम व्यथित हैं और जो हुआ है उसके लिए खेद जताते हैं. हम इस तरह की ग़लती को रोकने के लिए तत्काल कदम उठा रहे हैं."

उन्होंने कहा कि तस्वीरों पर ऑटोमेटिक तौर पर लेबल लगाने के मामले में काफ़ी काम किया जाना है.

इस तरह की ग़लतियां भविष्य में दोबारा न हों, ये तय करने के लिए कोशिश जारी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार