बीपी तेल रिसाव के बाद देगा खरबों रुपयों का हर्जाना

इमेज कॉपीरइट Reuters

ब्रिटेन की तेल कंपनी ब्रिटिश पेट्रोलियम (बीपी) अमरीकी डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस को हर्जाने के तौर पर 18.7 अरब डॉलर (11 ख़रब रुपये) देने को तैयार हो गई है.

2010 में मेक्सिको की खाड़ी में हुए तेल रिसाव के बाद अमरीका ने बीपी पर केस किया था. इस हादसे में 11 लोगों की मौत हो गई थी.

खाड़ी में उस वक़्त 125 मिलियन गैलन तेल का रिसाव हुआ था. अमरीकी इतिहास में किसी एक कंपनी द्वारा दिया गया यह अब तक का सबसे बड़ा हर्जाना है.

''सुरक्षित तरीके से काम करेंगे''

बीपी के चीफ एग्ज़ीक्यूटिव बॉब डडली ने कहा, ''यह समझौता सभी पक्षों के लिए वास्तविक परिणाम लेकर आया है. इससे हम सबसे बड़े भार को उतार सकेंगे.''

उन्होंने आगे कहा, ''इस हादसे से हमने बहुत कुछ सीखा है और अब हम और भी सुरक्षित तरीके से काम कर सकेंगे.''

बीपी की अर्ज़ी ख़ारिज

इमेज कॉपीरइट Reuters

पिछले साल दिसंबर में बीपी ने अमरीकी सुप्रीम कोर्ट में अर्ज़ी दी थी कि वह पहले ही करीब 4.25 अरब डॉलर (2.69 खरब रुपये) हर्जाने के तौर पर दे चुकी है जिसके बाद उससे और हर्जाना नहीं लिया जाना चाहिए.

जिसके बाद कोर्ट ने उसकी अर्जी ख़ारिज कर दी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)