कर्ज़ में डूबे ग्रीस की आर्थिक पैकेज को ज़ोरदार 'ना'

इमेज कॉपीरइट Reuters

ग्रीस की जनता ने अपने देश को दिए जाने वाले अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहायता पैकेज को ज़ोरदार जनमत से ख़ारिज कर दिया है.

रविवार को हुए जनमत संग्रह के आधिकारिक नतीजे गृह मंत्रालय ने जारी कर दिए हैं जिनके मुताबिक़ बेलआउट पैकेज के हक़ में सिर्फ़ 38.7 प्रतिशत जबकि इसके विरोध में 61.3 प्रतिशत मत पड़े.

ग्रीस की सत्ताधारी सिरीज़ा पार्टी बेलआउट पैकेट कि शर्तों को अपमानजनक मानती है.

वहीं सरकार के आलोचकों ने चेतावनी दी थी कि बेलआउट को ख़ारिज करने पर ग्रीस साझा मुद्रा यूरो वाले देशों के समूह यूरोज़ोन से बाहर हो सकता है.

जनमत संग्रह का नतीजा आने के बाद डॉलर के मुक़ाबले यूरो के मूल्य में खासी गिरावट देखी गई है.

मंगलवार को शिखर बैठक

इमेज कॉपीरइट n

अब ग्रीस के हालात पर मंगलवार को विचार करने के लिए यूरोज़ोन के प्रमुखों का शिखर सम्मेलन बुलाया गया है.

ग्रीस के प्रधानमंत्री एलेक्सिस त्सिप्रास ने कहा है कि रविवार को ग्रीस की जनता ने 'एकजुटता और लोकतंत्र वाले यूरोप' के हक़ में राय दी है.

लेकिन यूरोपीय अधिकारियों का कहना है कि बेलआउट के ख़ारिज होेने का मतलब है कि अब तक जो कर्ज़दाताओं से वार्ता हो रही है, वो ख़ारिज कर दी गई है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

यूरोज़ोन के वित्त मंत्रियों के समूह यूरोग्रुप का कहना है कि जनमतसंग्रह का फ़ैसला ग्रीस के भविष्य के लिए बेहद अफ़सोसनाक है.

वहीं जर्मनी के उप चांसलर ज़िगमार गाब्रिएल का कहना है कि ग्रीस के साथ नए सिरे से बात करने के बारे में 'कल्पना करना बहुत मुश्किल' है.

उन्होंने एक जर्मन अख़बार से बातचीत में कहा कि त्सिप्रास देश को 'निराशा की तरफ' ले जा रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार