'एक जान की क़ीमत 10 लाख लाइक्स भी नहीं'

  • 8 जुलाई 2015
सेल्फ़ी इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

ख़तरनाक जगहों या जोखिम भरे हालात में सेल्फ़ी के शौक़ीन युवाओं को आगाह करने के लिए रूस की सरकार ने एक मुहिम शुरू की है.

रूस में ऐसे कई मामले सामने आए हैं जब सेल्फ़ी के चक्कर में युवा ज़ख्मी हुए हैं और कुछ मामलों में उन्हें जान गंवानी पड़ी है.

इस तरह की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए इस मुहिम में संदेश दिया गया है, ''सोशल मीडिया पर 10 लाख लाइक्स मिलें तो भी आपकी सलामती ज़्यादा ज़रूरी है.''

इमेज कॉपीरइट

सरकार ने एक बुकलेट भी जारी की है जिसमें ख़तरनाक जगहों या स्थिति में सेल्फ़ी लेते दिखाया गया है और ऐसा नहीं करने के लिए कहा गया है.

जान गई

मॉस्को में इस साल मई में 21 साल की एक युवती की सेल्फ़ी के चक्कर में जान चली गई थी.

अधिकारियों के मुताबिक तब हुआ यूं था कि ये युवती एक बंदूक के साथ सेल्फ़ी लेने की कोशिश कर रही थी और तभी ग़लती से बंदूक चल गई और उसकी जान चली गई थी.

इमेज कॉपीरइट

रूस में ऐसे मामले सामने आए हैं जब बच्चे ट्रेन के डिब्बों पर चढ़कर सेल्फी ले रहे थे और उन्हें बिजली का झटका लग गया.

रूस के गृह मंत्रालय का कहना है, ''आज तकनीक की प्रगति से फ़ायदे हुए हैं लेकिन नई चुनौतियां और ख़तरे भी पैदा हो गए हैं. हमारी बुकलेट आपको याद दिलाती है कि सुरक्षित तरीके से सेल्फ़ी कैसे लें.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार