ग्रीस यूरोज़ोन में रहे, फ्रांस 'कुछ भी करेगा'

  • 7 जुलाई 2015
मैनुअल वास इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मैनुअल वास ग्रीस के यूरोज़ोन से अलग होने को ख़तरनाक मानते हैं.

प्रधानमंत्री मैनुएल वाल्स ने कहा है कि ग्रीस को यूरोज़ोन में शामिल रखने के लिए फ्रांस कुछ भी करेगा.

मैनुएल वाल्स का कहना था कि ग्रीस का यूरोज़ोन से बाहर जाना काफ़ी ख़तरनाक होगा.

उन्होंने ये बात यूरोज़ोन के एक आपात सम्मेलन से पहले कही और बोले कि ग्रीस के साथ ‘समझौते की बुनियाद मौजूद है.’

लेकिन जर्मनी ने चेतावनी दी है कि बिना शर्त कर्ज़ माफ़ नहीं किया जाना चाहिए.

यूरोज़ोन के मंत्रियों ने ग्रीस से कर्ज़ वापसी को लेकर नई योजना पेश करने को कहा है.

30% कम करें क़र्ज़ की राशि

ग्रीस के वोटरों ने पिछले हफ़्ते हुए एक जनमतसंग्रह में पहले दी गई शर्तों को नामंज़ूर कर दिया था.

Image caption जनमतसंग्रह में क़र्ज़ वापसी की शर्तों से इंकार कर दिया गया.

ग्रीस के प्रधानमंत्री एलेक्सिस सिप्रास ने सोमवार को देश के दूसरे राजनीतिक दलों के नेताओं से मुलाक़ात की.

मंगलवार सुबह वो ब्रसेल्स के लिए रवाना हो गए जहां उन्हें यूरोज़ोन की बैठक में समझौते पर नई योजना पेश करनी है.

कहा जा रहा है कि इसमें एक मांग 356 अरब डॉलर के क़र्ज़ की राशि को 30 प्रतिशत तक कम करना है.

घोर आर्थिक संकट झेल रहे ग्रीस के बैंक मंगलवार और बुधवार को बंद रहेंगे.

इस बीच यूरोपीय सेंट्रल बैंक ने ग्रीस के बैंकों को आकस्मिक क़र्ज़ देने से मना किया है और क़र्ज़ की मौजूदा रक़म के बदले अधिक गारंटी की मांग की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार