सलमान की नवाज़-मोदी से ख़ास गुज़ारिश

इमेज कॉपीरइट salman twitter

सलमान खान ने अपनी फ़िल्म बजरंगी भाईजान को लेकर एक ख़ास अपील की है.

टिवटर पर सलमान ने भारत के प्रधानमंत्री और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से गुज़ारिश की है.

उन्होंने लिखा, "मैं बाअदब कहना चाहता हूँ कि अगर भारत और पाकिस्तान के नेता बजरंगी भाईजान देखें तो खुशी होगी क्योंकि बच्चों के प्रति जो प्यार होता है उसकी कोई सीमा नहीं होती. @narendramodi #nawazsharif."

फिल्म एक ऐसे व्यक्ति बजरंगी (सलमान) की कहानी है जो एक पाकिस्तानी बच्ची को वापस उसके मुल्क छोड़ने जाता है.

तीर्थ यात्रा पर भारत आए अपने परिवार से ये बच्ची बिछड़ जाती है. फिल्म में दिखाया गया है कि पाकिस्तानी लोग कैसे बजरंगी की मदद करते हैं.

ये फिल्म भारत और पाकिस्तान के बीच बेहतर रिश्तों की जरूरत पर भी ज़ोर देती है.

पाकिस्तान में भी रिलीज़

इमेज कॉपीरइट spice

इससे पहले सलमान ने पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड का शुक्रिया भी अदा किया.

पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड ने 'बजरंगी भाईजान' को पाकिस्तान में रिलीज़ करने की अनुमति दे दी है. हालांकि कश्मीर से जुड़े चंद वाक्यों को हटाने के बाद ही फ़िल्म को रिलीज़ किया जाएगा.

सेंसर बोर्ड सिंध के प्रमुख फख़्र-ए-आलम ने बीबीसी को बताया था कि 'बजरंगी भाईजान' एक अच्छी और सकारात्मक फ़िल्म है और इसमें पाकिस्तान और पाकिस्तानियों को सकारात्मक तरीके से पेश किया गया है.

हालांकि उन्होंने फ़िल्म में कश्मीर से जुड़े वाक्यों को हटाने पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

सीन हटा

इमेज कॉपीरइट by Spice PR

सूत्रों के मुताबिक़ सेंसर बोर्ड ने जो वाक्य हटाए हैं उनमें फ़िल्म में सलमान ख़ान एक पाकिस्तानी मौलवी को एक ख़ूबसूरत और हरे भरे पहाड़ी इलाके की तस्वीर दिखा कर इसका नाम पूछते हैं तो मौलवी साहब (ओमपुरी) कहते हैं कि ये कश्मीर मालूम होता है.

इस पर सलमान ख़ान कहते हैं कि मुझे वहां जाने के लिए वापस हिंदुस्तान जाना होगा जिस पर मौलवी कहते हैं, 'नहीं छोटा सा कश्मीर हमारे पास भी है.'

पाकिस्तान सेंसर बोर्ड ने ये वाक्य काट कर फ़िल्म को रिलीज़ करने की इजाज़त दी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)