'घमंडी' अमरीका पर रुख़ नहीं बदलेगा: ईरान

  • 18 जुलाई 2015
khamenei, IRAN इमेज कॉपीरइट khamenei.ir

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्लाह अली खमेनेई ने कहा है कि देश के परमाणु कार्यक्रम पर समझौते के बावजूद 'घमंडी' अमरीका के प्रति ईरान का रवैया नहीं बदलेगा.

रमज़ान ख़त्म होने पर दिए भाषण पर खमेनेई ने कहा कि अब भी मध्य पूर्व को लेकर अमरीका से ईरान के गंभीर मतभेद हैं.

उन्होंने कहा कि ईरान सीरिया, इराक़, फलस्तीनियों के अलावा यमन और बहरीन में "दबे-कुचले लोगों" का समर्थन करता रहेगा.

इमेज कॉपीरइट AP

ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर इस हफ़्ते की शुरुआत में ही कई सालों की बातचीत के बाद समझौता हुआ है.

इस समझौते के तहत ईरान प्रतिबंधों में ढील के बदले अपनी परमाणु गतिविधियों को सीमित कर देगा.

'अमरीका से बात नहीं'

तेहरान की मोसाला मस्जिद में खमेनेई ने कहा, "अमरीकी कहते हैं कि उन्होंने हमें परमाणु बम हासिल करने से रोका है, वो जानते हैं कि ये सच नहीं है. हमने एक फ़तवा देकर एलान कर दिया था कि इस्लामिक क़ानून के तहत परमाणु हथियार हराम हैं. इसका परमाणु वार्ता से कोई लेना देना नहीं था.''

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने कहा, "हम बार-बार कहते रहे हैं कि हम क्षेत्रीय या अंतरराष्ट्रीय मसलों पर अमरीका से बात नहीं करेंगे; द्विपक्षीय मसलों पर भी नहीं. हमने परमाणु कार्यक्रम पर अपने हितों के लिए अमरीकियों से बात की."

संवाददाताओं का कहना है कि राष्ट्रपति हसन रूहानी ने परमाणु करार की तारीफ़ की थी और खमेनेई के विचार इसके विपरीत हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार