तालिबान ने की मुल्ला उमर की मौत की पुष्टि

  • 30 जुलाई 2015

तालिबान ने आधिकारिक तौर पर कहा है कि उसके नेता मुल्ला उमर की मौत हो गई है.

हालांकि कुछ देर पहले ही पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने अफ़ग़ानिस्तान तालिबान नेता मुल्ला उमर की मौत की ख़बर को अफ़वाह बताया था और कहा कि वो इन ख़बरों की सच्चाई की जांच करने की कोशिश कर रहा है.

अफ़ग़ान तालिबान ने अपना नया नेता भी चुन लिया है. एक बैठक में मुल्ला अख़्तर मंसूर को संगठन का नेता चुना गया.

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी ने बयान दिया था कि मुल्ला उमर की दो साल पहले मौत हो गई थी. इसके बाद अमरीका ने इसे विश्वसनीय माना था.

इसके बाद तालिबान के क़तर स्थित कार्यालय ने अफ़ग़ानिस्तान सरकार के साथ शांति वार्ता में शामिल होने से मना कर दिया था.

'तथ्य जुटाने की कोशिश'

Image caption विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने तालिबान नेता की मौत की ख़बर की जांच की बात कही.

लेकिन पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता क़ाज़ी ख़लीलुल्लाह ने कहा है कि पाकिस्तान मुल्ला उमर की मौत की ख़बरों की पुष्ठि नहीं कर पाया है.

उन्होंने कहा, "हम सब जानते हैं कि इस तरह की ख़बर काफ़ी समय से बार-बार आ रही है. पाकिस्तान सरकार इन ख़बरों के सही या ग़लत होने को लेकर तथ्य जुटाने की कोशिश कर रहा है."

जब उनका ध्यान इस तरफ़ दिलवाया गया कि मुल्ला उमर की मौत कराची के एक अस्पताल में हुई तो उन्होंने कहा कि वो इस मुद्दे पर और बात नहीं करना चाहते हैं.

तालिबान और अफ़ग़ानिस्तान सरकार के बीच होनेवाली शांतिवार्ता के दूसरे दौर के बारे में उन्होंने कहा कि इस बारे में उन्हें बहुत जानकारी नहीं है.

दोनों पक्षों के बीच पहले दौर की बातचीत पाकिस्तान के मरी में हुई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार