यमनः सबसे बड़ा एयरबेस सेना के हाथों में

  • 4 अगस्त 2015
यमन इमेज कॉपीरइट reuters

यमन में सरकारी सुरक्षा बलों के एक प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया है कि सरकारी सेना ने देश के सबसे बड़े एयरबेस को हूती विद्रोहियों से फिर हासिल कर लिया है.

प्रवक्ता नस्र अलक़ैद ने कहा, "अल अनद एयरबेस अब राष्ट्रपति हादी की सेना के हाथों में आ गया है."

लेकिन हूती विद्रहियों की तरफ़ से इस बारे में कोई बयान नहीं आया है.

अदन के उत्तर में स्थित अल अनद एयरबेस पर हाल के दिनों में तेज़ लड़ाई के बाद बड़ी संख्या में लोगों के मारे जाने की ख़बरें हैं.

जुलाई में सुरक्षा बलों ने अदन पर फिर नियंत्रण कर लिया था. उन्हें सऊदी नेतृत्व वाले गठबंधन की तरफ़ से विद्रोहियों के ठिकानों पर हवाई हमलों से भी मदद मिल रही है.

विद्रोहियों को पीछे हटाने और यमनी सरकार का नियंत्रण फिर स्थापित करने के अभियान का नेतृत्व सऊदी अरब कर रहा है.

यमन की सरकार फिलहाल सऊदी अरब से ही काम कर रही है.

'ईरान के इशारे पर'

इमेज कॉपीरइट Reuters

अल अनद में अमरीकी सेना का एयरबेस हुआ करता था जहां से अमरीकी सैनिक अल क़ायदा के ख़िलाफ होने वाले ड्रोन हमलों का निरीक्षण करते थे.

मार्च में इस हवाई ठिकाने पर हूती विद्रोहियों ने कब्ज़ा कर लिया था.

विद्रोहियों के बढ़ते असर को देखते हुए मार्च में ही राष्ट्रपति अब्दरब्बु हादी को सऊदी अरब भागना पड़ा था.

सऊदी अरब समझता है कि हूती बाग़ी उसके प्रतिद्वंद्वी शिया बहुल ईरान के इशारे पर काम कर रहे हैं और उन्हें ईरान से हथियार भी मिल रहे हैं.

हालांकि हूती इस बात से इंकार करते हैं. उनका कहना है कि वे भ्रष्टाचार और राष्ट्रपति हादी की सरकार में अपने उत्तरी प्रांत की अनदेखी के ख़िलाफ़ लड़ रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार