बैंकॉक में एक और धमाका

इमेज कॉपीरइट Other

थाई पुलिस के प्रवक्ता प्रावुत थावोर्नसिरी ने बीबीसी से कहा है कि राजधानी बैंकॉक में एक और धमाका हुआ है.

उन्होंने कहा कि ये धमाका घाट में हुआ है.

थानवोर्नसिरी ने कहा कि किसी ने मंगलवार को ताक्सिन ब्रिज से विस्फोटक फेंका जो सैथर्न के घाट में जाकर गिरा.

इस बीच, थाईलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुथ चान-ओचा ने कहा है कि अभी तक बैकॉक में सोमवार को हुए धमाके के ज़िम्मेदार लोगों की पहचान नहीं हुई है, लेकिन सीसीटीवी में दिखे एक संदिग्ध की जाँच पुलिस कर रही है

हालाँकि उन्होंने बताया कि सीसीटीवी पर दिखे संदिग्ध की तस्वीर स्पष्ट नहीं है.

धमाका मंदिर के पास

सोमवार को थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में एक हिंदू मंदिर के पास हुए धमाके में कम से कम 21 लोग मारे गए हैं और 123 लोग घायल हुए हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि ये थाईलैंड में हुआ सबसे बुरा हादसा है.

उन्होंने कहा, "इस बार इनका निशाना मासूम लोगों की जान लेना था. वे हमारी अर्थव्यवस्था और पर्यटन को बर्बाद करना चाहते हैं."

थाईलैंड के रक्षा मंत्री ने कहा है कि जिन लोगों ने एक हिंदू मंदिर के बाहर बम रखे थे, उनके निशाने पर विदेशी लोग थे. उन्होंने बताया कि ये लोग देश के पर्यटन और अर्थव्यवस्था को नुक़सान पहुँचाना चाहते थे.

अधिकारियों का कहना है कि धमाके में थाईलैंड के 10 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो गई है. इसके अलावा चीन के दो नागरिक और फिलीपिंस का एक नागरिक मारा गया है.

रक्षा मंत्री प्रावित वॉन्गसुवन ने कहा कि वे हमलावरों को ढूँढ़ निकालेंगे.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

बैंकॉक का इरावान मंदिर पर्यटकों के लिए प्रमुख आकर्षण का केंद्र रहता है और सोमवार को हुए धमाकों में कई विदेशी नागरिक भी मारे गए हैं.

प्रधानमंत्री प्रयुथ चान-ओचा ने कहा है कि सरकार ने इस मामले में एक 'वॉर रूम' का गठन किया है, ताकि इस मामले में मिली किसी भी जानकारी का इस्तेमाल हो सके.

राष्ट्रीय पुलिस प्रमुख सोमयोत पूम्पुमुआंग ने जानकारी दी है कि धमाके में 'पाइप बम' का इस्तेमाल किया गया. ऐसी रिपोर्टें हैं कि धमाकों में तीन किलोग्राम टीएनटी का इस्तेमाल हुआ.

दृश्य

इमेज कॉपीरइट AP

धमाके के बाद घटनास्थल का दृश्य दिल दहलाने वाला था. एक प्रत्यक्षदर्शी जेम्स सेल्स ने बीबीसी को बताया, ''वहां कई लाशें पड़ी थीं. एक व्यक्ति तो ऐसा था जिसके शरीर के धमाके की वजह से दो हिस्से हो गए थे. कई लाशें चीनी पर्यटकों की थीं.''

इमेज कॉपीरइट Getty

शहर के कुछ और हिस्सों में भी बम लगाए थे. बैंकॉक पोस्ट के संवाददाता मार्क ह्यूग्स ने बीबीसी को बताया कि पूरे शहर में सायरन बज रहे थे. कुल तीन बम लगाए गए थे. अच्छी बात ये हुई कि शहर में अलग-अलग जगहों पर दो और बमों में धमाका नहीं हुआ.

धमाका काफी शक्तिशाली था. थाईलैंड के पुलिस प्रमुख सोम्योत पोम पुमउयांग का कहना है, ''धमाके का असर लगभग 100 मीटर के दायरे में हुआ. जानकारों का कहना है कि धमाके के लिए तीन किलोग्राम विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया था. इस हमले के पीछे कोई भी मक़सद हो सकता है.''

जाँच

थाईलैंड में इस समय सेना समर्थित सरकार है. सैन्य सरकार के प्रवक्ता का कहना है, ''सरकार का पूरा ज़ोर इस बात पर है कि इस धमाके की जांच में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी और इसके लिए जि़म्मेदार लोगों को न्याय के कठघरे में खड़ा किया जाएगा.''

जोनाथन हेड, घटनास्थल से बीबीसी संवाददाता
वहाँ बहुत बुरा हाल है, चारों तरफ़ लोगों के शरीर के अंग बिखरे हैं, लाशें अब भी पड़ी हुई हैं, पुलिस ने सड़क को बंद कर दिया है, जाँच अधिकारी मौक़े पर पहुँच गए हैं और उस गड्ढे की जाँच कर रहे हैं, जो धमाके की वजह से बनी है. धमाके के बाद सड़क पर जली हुई मोटरसाइलें देखी जा सकती हैं और राहतकर्मी हताहतों को संभाल रहे हैं. ये धमाका एक ट्रैफिक लाइट के नज़दीक हुआ. बैंकॉक में इस तरह का धमाका पहले कभी नहीं हुआ है.
इमेज कॉपीरइट BBC World Service

थाईलैंड में कुछ चरमपंथी गुट ऐसी गतिविधियों में शामिल रहे हैं, लेकिन वो सिर्फ़ देश के दक्षिणी हिस्से तक ही सीमित हैं.

लेकिन बैंकॉक में पिछले एक दशक के दौरान राजनीतिक गुटों के बीच हिंसक प्रतिद्वंद्विता ज़रूर देखी गई है.

सेना ने पिछले साल मई में महीनों की अशांति के बाद एक चुनी हुई सरकार को हटा कर सत्ता अपने हाथ में ले ली थी.

इमेज कॉपीरइट Reuters

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)