बैंकॉक धमाका: सरकार ने कहा विदेशी हाथ नहीं

  • 20 अगस्त 2015
थाई पुलिस इमेज कॉपीरइट Reuters

थाईलैंड की सरकार का कहना है कि सोमवार को बैंकॉक के मंदिर के पास हुए धमाके में किसी अंतरराष्ट्रीय चरमपंथी संगठन का हाथ नहीं लगता.

सैन्य सरकार के प्रवक्ता कर्नल विंथाई सुवारी ने कहा कि जांचकर्ताओं की शुरुआती जांच से यही लगता है कि इस हमले में कोई विदेशी हाथ नहीं है.

अधिकारियों के मुताबिक सहयोगी देशों की गुप्तचर संस्थाओं से बातचीत के बाद वे इस निष्कर्ष पर आए हैं कि ये हमला अंतरराष्ट्रीय चरमपंथ से जुड़ा नहीं है.

इससे ये संभावना ज़्यादा हो जाती है कि स्थानीय अपराधियों ने ये हमला किया हो.

लेकिन बीबीसी संवाददाता जॉनाथन हेड का कहना है कि थाईलैंड में ऐसे हमले करने की पृष्ठभूमि रखने वाला कोई संगठन नहीं है.

हो सकता है कि ये हमला किसी नए संगठन ने किया हो.

हमले का मकसद

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption थाई पुलिस द्वारा जारी संदिग्ध का स्केच

लेकिन पर्यटकों में बहुत लोकप्रिय स्थल पर हमला करने के पीछे उसका क्या मकसद था, इस बारे में पुलिस को कोई सुराग नहीं है.

सोमवार को हुए इस बम विस्फोट 20 लोगों की मौत हो गई थी.

मरने वालों में थाइलैंड के अलावा चीन, हांगकांग, ब्रिटेन और इंडोनेशिया के भी नागरिक थे.

मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में पीली टी शर्ट पहने मुख्य संदिग्ध नज़र आ रहा है. उसे एक बैग रखते हुए देखा जा सकता है.

कैमरा फुटेज के आधार पर पुलिस ने उसका स्केच भी जारी किया.

बहरहाल, इस विस्फोट के संदिग्ध की तलाश करने के लिए थाईलैंड की पुलिस ने इंटरपोल से मदद मांगी है.

अधिकारियों का कहना है कि उन्हें ये निश्चित तौर पर मालूम नहीं है कि ये संदिग्ध देश में है या नहीं.

माना जा रहा है कि इरावान मंदिर के पास बम रख कर ये व्यक्ति हवाई अड्डे की तरफ गया था.

गिरफ्तारी का वारंट

इमेज कॉपीरइट epa
Image caption थाई पुलिस प्रमुख सोमियात पोमपान्मोंग

इस अज्ञात व्यक्ति की गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया गया है .

थाई सरकार ने इस व्यक्ति के ठिकाने के बारे में कोई भी जानकारी देने के लिए 28,000 डॉलर के इनाम की घोषणा की है.

इससे पहले थाईलैंड के पुलिस प्रमुख सोमियोत पोमपान्मोंग ने समाचार एजेंसी एपी को बात करते हुए इस हमले के पीछे किसी नेटवर्क का हाथ होने की आशंका जताई थी.

पुलिस ने इस सिलसिले में इंटरपोल की मदद भी मांगी थी.

थाईलैंड के प्रधानमंत्री प्रायुत जन ओचा ने मुख्य संदिग्ध से आत्मसमर्पण की अपील की.

इस बीच धमाके के बाद बुधवार को ये मंदिर फिर से खोल दिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार