युद्ध जैसी स्थिति के लिए तैयार उत्तर कोरिया

किम जोंग उन, उत्तर कोरिया के नेता इमेज कॉपीरइट AFP

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया से सटी सीमा पर तैनात सैनिकों से युद्ध जैसे हालात पर तैयार रहने को कहा है. सरकारी मीडिया ने यह ख़बर दी है.

दक्षिण कोरिया के साथ हालिया गोलाबारी के बाद यह फ़ैसला किया गया है.

सरकारी एजेंसी केसीएनए के मुताबिक़, एक आपात बैठक में किम ने ‘युद्ध जैसी स्थिति’ का ऐलान कर दिया.

किम ने चेतावनी दी कि अगर उत्तर कोरिया के ख़िलाफ़ 'प्रसारण' नहीं रोका जाता, तो दक्षिण कोरिया के ख़िलाफ़ कार्रवाई होगी.

बीबीसी के दक्षिण कोरिया संवाददाता स्टीव इवान्स का कहना है कि कई बार इस तरह की आक्रामक भाषा की वजह से गोलाबारी बढ़ जाती है. इस बार की भाषा उससे भी ज़्यादा तीखी है और गोलाबारी भी हो रही है.

पूरी तरह तैयार

इमेज कॉपीरइट Reuters

सरकारी समाचार एजेंसी के मुताबिक़, किम ने सैनिकों से कहा है कि वे किसी भी समय किसी तरह की सैनिक कार्रवाई के लिए पूरी तरह तैयार रहें.

इसके पहले उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया को चेतावनी दी थी कि यदि उसने ‘48 घंटों’ के अंदर सीमा पर उसके ख़िलाफ़ होने वाला प्रसारण नहीं रोका और प्रसारण उपकरणों को वहाँ से नहीं हटाया, तो वह उसके विरुद्ध ज़ोरदार सैनिक कार्रवाई करेगा.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़ दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्रालय ने एक चिट्ठी में कहा है कि उत्तर कोरिया प्रसारण को युद्ध का ऐलान मानता है, लेकिन वह तमाम मुद्दे सुलझाना चाहता है.

तनाव बढ़ा

इमेज कॉपीरइट AFP

उत्तर कोरिया ने कथित तौर पर ग्यारह साल बाद सीमा पर प्रसारण शुरू होने के ख़िलाफ़ गोलाबारी की थी, जिससे दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था.

दक्षिण कोरिया ने जवाबी फायरिंग की. इस गोलाबारी में किसी के मारे जाने की ख़बर नहीं है.

दक्षिण कोरिया ने अपनी पश्चिमी सीमा से लोगों को हटाने का आदेश दिया है.

दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया के बीच तकनीकी रूप से अभी भी युद्ध चल रहा है क्योंकि 1950-53 के युद्ध के बाद दोनों देशों के बीच युद्धविराम तो हुआ था, पर शांति समझौता नहीं हो पाया था.

दक्षिण कोरिया और अमरीका ने बीते सोमवार को सालाना युद्भ अभ्यास शुरू कर दिया. वे इसे रक्षात्मक मानते हैं. पर उत्तर कोरिया इसे अपने ऊपर होने वाले हमले का अभ्यास मानता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार