अब अंतरिक्ष में व्हिस्की!

स्पेस स्टेशन इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन

एक स्वचालित मालवाहक यान व्हिस्की की सप्लाई लेकर अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन पर सफलतापूर्वक उतरा है.

लेकिन इस स्पेस स्टेशन में यात्रा कर रहे छह अंतरिक्षयात्री इसका मज़ा नहीं ले सकते.

जपानी व्हिस्की कंपनी संतॉरी ने व्हिस्की का ये सैंपल पूरी तरह वैज्ञानिक शोध के लिए भेजा है.

कंपनी ये देखना चाहती है कि एक साल शून्य गुरुत्वाकर्षण में रह कर व्हिस्की के स्वाद और फ्लेवर पर क्या असर पड़ता है.

कंपनी के शोधकर्ताओं का मानना है कि तापमान के हल्के बदलाव और द्रव्य की सीमित गति वाले माहौल में रखने से व्हिस्की और भी ज़ायकेदार हो सकती है.

खाना, पानी और कपड़े भी

इमेज कॉपीरइट

पिछले महीनों में तीन रूसी और अमरीकी मालवाहक अंतरिक्षयानों के असफल हो जाने के बाद ये पूरी तरह से स्वचालित यान अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन पर उतरने में कामयाब रहा.

इस ख़ास 'सामान' को 5.5 टन वाले "कुओनोतोरी" नाम के एक यान में रखा गया था.

इसे पिछले हफ्ते बुधवार को दक्षिण जापान से H-IIB रॉकेट की मदद से अंतरिक्ष में छोड़ा गया.

इस यान में विभिन्न वैज्ञानिक प्रयोगों के लिए भोजन, पानी, कपड़े और उपकरण भी रखे गए.

45 वर्षीय जापानी अंतरिक्षयात्री, किमिया युइ ने इस यान के स्पेस स्टेशन पर उतरने से पहले इस छोटे यान को पकड़ने के लिए एक रोबोटिक हाथ का इस्तेमाल किया.

जापान एरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी के मुताबिक ये मालवाहक अंतरिक्षयान सितंबर में पृथ्वी पर वापिस आएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार