आईएस पर कार्रवाई में तुर्की भी शामिल

तुर्की का विमान इमेज कॉपीरइट AP

इस्लामिक स्टेट के चरमपंथियों के ख़िलाफ़ हवाई हमले में अब तुर्की भी शामिल हो रहा है.

अमरीका और तुर्की के बीच इस संबंध में समझौता हुआ है.

अमरीकी अधिकारियों ने आईएस के ख़िलाफ़ अभियान में इस समझौते को एक अहम क़दम बताया है.

अमरीकी विमान पहले से ही अपने अभियान में तुर्की के दो हवाई ठिकानों का इस्तेमाल कर रहे हैं.

रणनीति

इससे पहले भी तुर्की ने आईएस के ख़िलाफ़ कुछ हवाई हमले किए हैं, लेकिन अब यह आईएस के ख़िलाफ़ व्यापक अभियान की रणनीति में पूरी तरह शामिल हो रहा है.

पेंटागन के प्रवक्ता पीटर कुक ने कहा कि इस समझौते को व्यावहारिक रूप देने में कुछ और दिन लगेंगे.

उन्होंने कहा कि तुर्की के साथ सहयोग और सहयोग के विस्तार पर बातचीत आगे भी जारी रहेगी. पीटर कुक ने कहा कि सीमा से जुड़े मुद्दों पर तुर्की के साथ बातचीत जारी है.

वर्ष 2013 में इराक़ और सीरिया में आईएस के बढ़ते प्रभाव के बाद पिछले महीने पहली बार तुर्की ने आईएस के ख़िलाफ़ हवाई हमला किया था.

बदलाव

इमेज कॉपीरइट AFP Getty Images

इसके पहले तुर्की सैनिक कार्रवाई को लेकर हिचक रहा था. लेकिन तुर्की में हुए कई हमलों के बाद उसके रुख़ में बदलाव आया.

इन हमलों के लिए आईएस को ज़िम्मेदार बताया गया.

हालाँकि तुर्की आईएस के साथ-साथ उत्तरी इराक़ में सक्रिय कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी (पीकेके) के चरमपंथियों को निशाना बना रहा है.

पर्यवेक्षकों का कहना है कि आईएस से ज़्यादा पीकेके के लड़ाके निशाने पर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार