'भारत की दखलंदाज़ी के सबूत यूएन में देंगे'

  • 30 अगस्त 2015
इमेज कॉपीरइट BBC World Service

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख़्वाजा मोहम्मद आसिफ़ ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र की आगामी महासभा के दौरान पाकिस्तान में भारत की कथित दखलंदाज़ी के सबूत पेश किए जाएंगे.

उन्होंने ये बात रविवार को पाकिस्तानी सीमा पर भारतीय गोलाबारी से सियालकोट के प्रभावित गांव कुंदन पुर का दौरान करने के बाद मीडिया से बातचीत में कही.

पिछले दिनों सीमा पर हुई गोलीबारी के लिए दोनों देश एक दूसरे को ज़िम्मेदार ठहरारते है.

भारत ने इस गोलाबारी में अपने तीन लोगों के मारे जाने की बात कही जबकि पाकिस्तान ने कहा कि उसके आठ आम नागरिक मारे गए.

वाकयुद्ध

पाकिस्तानी रक्षा मंत्री आसिफ़ ने कहा कि प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ सितंबर में होने वाली संयुक्त राष्ट्र महासभा और अक्टूबर में अपने अमरीकी दौरे में पाकिस्तान में भारत की दखलंदाजी के सबूत पेश करेंगे.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में भारत की ख़ुफ़िया एजेंसी रॉ की दख़लंदाजी के स्पष्ट सबूत मौजूद हैं और उनके कारिंदे भी पकड़े गए हैं.

पाकिस्तानी रक्षा मंत्री ने कहा, "बलूचिस्तान में अलगाववादी आंदोलन को आर्थिक मदद ही नहीं, बल्कि हथियार भी भारत से ही मिलते हैं. यही नहीं, दहशतगर्द भारत के पासपोर्ट पर ही सफ़र करते हैं."

भारत ने हमेशा इस तरह के आरोपों को खारिज किया है, बल्कि वो अकसर पाकिस्तान पर अपने यहां चरमपंथ को फैलााने का आरोप लगाता रहा है.

हाल के दिनों में सीमा और नियंत्रण रेखा पर गोलाबारी की घटनाओं और कश्मीर मुद्दे के कारण दोनों देशों में वाकयुद्ध तेज़ हो गया है.

इसी पृष्ठभूमि में पिछले दिनों प्रस्तावित दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक नहीं हो पाई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार