नाबालिग लड़के को नंगी तस्वीर भेजना पड़ा भारी

sexting photo इमेज कॉपीरइट ANDREY POPOV

चौदह साल के एक लड़के ने अपनी नग्न तस्वीर स्कूल की एक लड़की को भेजकर मुसीबत मोल ले ली है.

मामला ब्रिटेन का है जहां पुलिस ने अश्लील तस्वीर खींचने और उसे प्रसारित करने के मामले में लड़के का नाम पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज कर लिया है.

चूंकि लड़का नाबालिग है इसलिए उसे ना तो गिरफ़्तार किया गया और ना ही आरोपी बनाया गया है लेकिन आने वाले 10 सालों के लिए उसका नाम पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज रह सकता है.

बीबीसी रेडियो 4 के मुताबिक़, पूर्वी इंग्लैंड में रहने वाले इस लड़के ने अपने बेडरूम में नग्न हालत में सेल्फी खींचकर 'स्नैपचैट' के ज़रिए स्कूल में साथ पढ़ने वाली एक लड़की को भेज दी.

'स्नेपचैट' एक ऐसा ऐप है जिसमें आए मेसेज दस सेकेंड में अपने आप डिलीट हो जाते हैं.

लड़की ने किसी तरह इस तस्वीर को अपने फोन में 'सेव' कर लिया और स्कूल के दूसरे बच्चों को भेज दिया.

नादानी

इमेज कॉपीरइट PA

पुलिस ने कहा कि आपराधिक रिपोर्ट में तीन बच्चों के नाम दर्ज हैं लेकिन उन पर मुकदमा नहीं चलेगा.

लड़के की मां चिंतित है कि भविष्य में उसे नौकरी देने वाली कंपनियों के सामने भी उसके नाम का खुलासा किया जा सकता है.

सवाल उठाए जा रहे हैं कि नादानी में किए गए ग़लती का ख़ामियाज़ा भविष्य में बच्चों को भुगतना पड़ सकता है.

ब्रिटेन में क्रिमिनल बार एसोसिएशन ने कहा है कि इस मामले से पता चलता है कि बेवजह बच्चों को आपराधिक रिकर्ड में डालने के ख़तरे क्या होते हैं.

हालांकि स्कूल ने कहा है कि बच्चों से पूछताछ में कोई सख्ती नहीं बरती गई है.

लड़के की मां का कहना है कि पुलिस ने हाल ही में ऐसे मामलों में बच्चों के नाम आपराधिक रिकॉर्ड में डाल रही है और बेटे को इसके बारे में पता नहीं था.

'सेक्सटिंग'

इमेज कॉपीरइट Met Police

वहीं लड़के का कहना है कि अब भी स्कूल में कुछ बच्चों के पास उसकी तस्वीर है और स्कूल और पुलिस का रवैया डराने वाला है.

लड़के की मां ने बचाव करते हुए कहा कि इस उम्र में कई बच्चे फ़्लर्टिंग के लिए 'सेक्सटिंग' का हिस्सा बन रहे हैं.

वहीं स्कूल का कहना है कि बच्चों को क्लास में 'सेक्सटिंग' से दूर रहने की सलाह दी जाती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार