हिलेरी क्लिंटन ने जताया अफ़सोस

हिलेरी क्लिंटन इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption राष्ट्रपति पद की दौड़ में शामिल हिलेरी क्लिंटन विदेश मंत्री रहने के दौरान निजी ईमेल इस्तेमाल करने के विवाद में फंसी हैं.

अमरीका में राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दौड़ में शामिल हिलेरी क्लिंटन ने कहा है कि उन्हें विदेश मंत्री रहते हुए ईमेल के लिए निजी सर्वर इस्तेमाल करने पर अफ़सोस है.

हालांकि अमरीकी टीवी चैनल एमएसएनबीसी के साथ साक्षात्कार के दौरान जब उनसे पूछा गया कि क्या वो इस मुद्दे पर माफ़ी मांगेंगी, तो उन्होंने इंकार कर दिया.

हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि उन्हें विदेश मंत्री रहते हुए निजी ईमेल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए था और 'अलग विकल्प' चुनना चाहिए था.

अमरीका में 2016 में राष्ट्रपति चुनाव होना है और हिलेरी क्लिंटन डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ़ से उम्मीदवारी हासिल करने की रेस में शामिल हैं.

आलोचकों का कहना है कि उनके ईमेल पूरी तरह सुरक्षित नहीं थे.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption हिलेरी डेमोक्रेटिक पार्टी की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की दौड़ में शामिल हैं.

'रुककर नहीं सोचा'

अमरीकी नियमों के मुताबिक सरकारी पद पर रहने के दौरान किए गए ईमेल और अन्य पत्र व्यवहार सरकार की संपत्ति होते हैं.

हिलेरी क्लिंटन के निजी ईमेल इस्तेमाल करने को लेकर हुए विवाद का असर उनके चुनावी अभियान पर भी पड़ रहा है.

राजनीतिक विशेषज्ञों और उनके डेमोक्रेट सहयोगियों को लगता है कि वो विवाद पर संतोषजनक जवाब नहीं दे सकी हैं.

शुक्रवार को दिए साक्षात्कार में क्लिंटन ने कहा है कि उन्होंने कभी "रुककर नहीं सोचा" कि निजी ईमेल के इस्तेमाल को किस तरह देखा जाएगा.

हिलेरी क्लिंटन ने 2009 से 2013 तक बतौर विदेश मंत्री अपने कार्यकाल में क़रीब 60 हज़ार ईमेल भेजे.

उनका कहना है कि उन्हें जो ईमेल निजी लगे वो उन्होंने डिलीट कर दिए थे.

अमरीका का विदेश मंत्रालय हिलेरी क्लिंटन के ईमेल सार्वजनिक कर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार