शरणार्थियों के संघर्ष की 10 मार्मिक तस्वीरें

  • 5 सितंबर 2015
प्रवासी इमेज कॉपीरइट Juan Medina Reuters

तीन साल के सीरियाई बच्चे अयलान कुर्दी के शव की तस्वीर ने दुनियाभर के देशों को प्रवासियों के संकट की ओर ध्यान देने के लिए मजबूर कर दिया.

ये 10 तस्वीरें उस संघर्ष को बयां करती हैं जिसमें युद्ध और मानवाधिकार हनन के शिकार लोग अपनी जान हथेली पर लिए नए जीवन की तलाश में भटकते हैं.

पहली तस्वीर फोटोग्राफर युआन मेदिना ने वर्ष 2004 में कैनरी आइलैंड्स में ली थीं जहां अफ्रीकी प्रवासियों से भरी एक नाव पलट गई थी. इस हादसे में नौ लोग डूब गए. माली के ईसा और इब्राहिम को बचाया जा सका था.

इमेज कॉपीरइट Arturo Rodriguez AP

ये तस्वीर वर्ष 2006 की है. इसमें अटलांटिक महासागर की 1,000 किलोमीटर की ख़तरनाक यात्रा के बाद एक प्रवासी लड़का और उसकी मदद कर रहे पर्यटक दिख रहे हैं.

ये तस्वीर कैनरी आइलैंड्स के टेनेरीफ-ला-तेजिता बीच पर ली गई थी.

इमेज कॉपीरइट Jose Palazon Reuters

भूमध्य सागर से सटे मोरक्को के तट पर स्पेन के दो एन्क्लेव क्यूटा और मेलिला में कटीली बाड़ ही यूरोप और अफ्रीका को अलग करती है.

प्रवासियों के लिए काम करने वाली एक संस्था के होस पैलॉज़ॉन की ली इस तस्वीर में बाड़ पर चढ़े हुए अफ्रीकी लोग देखे जा सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट John Stanmeyer National Geographic

वर्ष 2014 में वर्ल्ड प्रेस फोटो का पुरस्कार जीतने वाले फोटोग्राफर जॉन स्टैनमायर की इस तस्वीर में अदन की खाड़ी के पास जिबूटी से गुज़रते प्रवासी नज़र आ रहे हैं.

टिमटिमाती रोशनी प्रवासियों के फोन की है जो यात्रा के दौरान सोमालिया के गैरकानूनी बाज़ार से सिम कार्ड खरीदकर सिग्नल ढूंढ़ रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Murad Sezer Reuters

भूमध्यसागर तक पहुंचने से पहले सीरिया और तुर्की की सीमा के नज़दीक इस ज़मीन के वीरान टुकड़े पर अक्सर गर्मी और धूल से पस्त हो चुके प्रवासियों के हुजूम दिखते हैं.

लेकिन इस तस्वीर में वीराने के बीच बच्चे का पालना यहां से आने-जाने वाले प्रवासियों की निराशा की झलक दिखाता है.

इमेज कॉपीरइट Massimo Sestini eyevine

ये तस्वीर इटली की नौसेना के हेलिकॉप्टर से वर्ष 2014 में लीबिया और इटली के बीच ली गई. नाव में पांच दिन और पांच रातें बिता चुके पांच सौ प्रवासी ऊपर देख रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Argiris Mantikos AP

अप्रैल में सीरिया और इरीट्रिया के प्रवासियों को ग्रीस के रोड्स आईलैंड्स ला रही नाव चट्टान से टकरा गई. नाव में सवार 93 लोगों में से 20 को ग्रीस के सेनाधिकारी ने अकेले बचाया जिनमें एक गर्भवती महिला भी थी.

इमेज कॉपीरइट Daniel Etter NY Times Redux eyevine

सीरिया के लैथ माजिद अपने बेटे और बेटी को थामे हुए दिख रहे हैं. वे हवा वाली नाव से तुर्की से ग्रीस के कोस द्वीप जा रहे थे. नाव की हवा निकलती रही और यात्रा के खतरे की पीड़ा लैथ माजिद के चेहरे पर दिख रही है.

इमेज कॉपीरइट Darko Vojinovic AP

पिछले महीने प्रवासियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए मेसिडोनिया में आपातकाल की घोषणा के बाद 'नो-मैंस लैंड' पर रात बिताने को मजबूर प्रवासियों ने पुलिस लाइन में घुसने की कोशिश की.

पुलिस ने प्रवासियों पर स्टन ग्रेनेड छोड़े. इसी संघर्ष में अपने छोटे बच्चे को बचाते एक पिता की तस्वीर.

इमेज कॉपीरइट twitter

लेबनान की राजधानी बेरूत में कलमें बेचता ये शख्स अब्दुल हलीम अत्तर है जो फलस्तीनी शरणार्थी है.

अत्तर की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी जिसके ज़रिए एक फंडिग कैम्पेन शुरू किया गया था.

इस फंड में अब तक 1 लाख 81 हज़ार डॉलर जमा हो चुके हैं. अत्तर सीरियाई बच्चों के लिए एक शिक्षा फंड बनाना चाहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार