'हर कैथोलिक स्थल कम के कम एक परिवार को शरण दे'

पोप फ्रांसिस इमेज कॉपीरइट AP

ईसाई धर्मगुरू पोप फ्रांसिस ने यूरोप में रोमन कैथोलिक समुदाय से प्रवासी संकट में सहयोग के लिए आगे आने का आह्वान किया है.

पोप ने कैथोलिक पादरियों, धार्मिक समुदायों और हर कैथोलिक शरण स्थल से कहा है कि उन्हें कम से कम एक प्रवासी परिवार को पनाह देनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि वैटिकन के दो कैथलिक पैरिश दो प्रवासी परिवारों को अपने पास रखकर उदाहरण पेश करेंगे.

पोप ने कहा कि दिसंबर में शुरू होने वाले 'ईयर ऑफ़ मर्सी' यानी 'दया का वर्ष' से पहले यूरोप में आने वाले प्रवासियों की मदद कर के कैथोलिक लोगों को मानवीयता का ठोस संकेत देना होगा.

इमेज कॉपीरइट Getty

सीरिया और इराक़ के युद्ध से भाग रहे हज़ारों प्रवासी बेहतर ज़िंदगी की तलाश में यूरोपीय देशों में पहुंच रहे हैं.

ये प्रवासी बड़े ही असुरक्षित मार्गों और तरीक़ों से यूरोप पहुंच रहे हैं. नावों के पलटने और बंद वैनों में दम घुटने से प्रवासियों की मौत की घटनाएं भी सामने आई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार