सऊदी अरब को अरबों का घाटा, घटाएगा ख़र्चे

इमेज कॉपीरइट Getty

सऊदी अरब का कहना है कि वो अपने ख़र्चों में कटौती की योजना बना रहा है ताकि तेल की क़ीमतों में गिरावट से हुए घाटे से निपटा जा सके.

सऊदी अरब दुनिया का सबसे बड़ा तेल उत्पादक है, लेकिन हाल के समय में अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की क़ीमतों में बड़ी गिरावट आई है.

सऊदी वित्त मंत्री इब्राहिम अलअसाफ़ ने ख़र्चों में कटौती का ब्यौरा नहीं दिया है लेकिन ये ज़रूर कहा कि इससे शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे क्षेत्र प्रभावित नहीं होंगे.

उन्होंने कहा कि जिन परियोजनाओं को पहले मंज़ूरी मिल चुकी है, उनमें अब कुछ देर हो सकती है.

सऊदी प्रशासन का अनुमान है कि इस साल उसके बजट में लगभग 40 अरब डॉलर की कमी हो सकती है.

हालांकि अंतरराष्ट्रीय विश्लेषक मानते हैं कि घाटा इससे कहीं ज़्यादा होगा.

इमेज कॉपीरइट

अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की क़ीमत प्रति बैरल घटकर 50 डॉलर तक पहुंच गई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार