मेक्सिकोः 'गुमशुदा छात्रों को जलाने के सबूत नहीं'

ग़ायब छात्रों के लिए प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption छात्रों के ग़ायब होने के बाद मेक्सिको में व्यापक प्रदर्शन हुए थे.

मेक्सिको में 43 छात्रों की ग़ुमशुदग़ी पर एक मानवाधिकार संस्था ने अपनी छानबीन के आधार पर सरकारी जांच को नकार दिया है.

सरकारी जांच में कहा गया था कि छात्रों के ग़ायब होने के घंटों बाद ही उनके शवों को कूड़े के ढेर में जला दिया गया था.

लेकिन मानवाधिकारों के इंटर-अमेरिकन कमीशन (आईएसीएचआर) का कहना है कि उसे शवों के जलाए जाने के ठोस सबूत नहीं मिले हैं.

अब मेक्सिको की सरकार ने नई जांच की घोषणा की है.

आईएसीएचआर की रिपोर्ट प्रकाशित होने के कुछ देर बाद ही महाधिवक्ता एरेली गोमेज़ ने कहा कि नया फ़ोरेंसिक दल कथित घटनास्थल की दोबारा जांच करेगा.

छात्रों के रिश्तेदारों ने भी अधिकारिक जांच को नकार दिया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption छात्रों के परिजनों ने भी सरकारी जांच को नकार दिया था.

उनका आरोप है कि जांच में शीर्ष अधिकारियों और सेना की संभावित भूमिका को छिपाया गया था.

प्रदर्शनकारी छात्रों के ग़ायब होने के बाद मेक्सिको में व्यापक प्रदर्शन हुए थे.

छह महीने की जांच के बाद अब वाशिंगटन स्थित संगठन आईएसीएचआर ने कहा था कि सरकार को छात्रों की खोज के प्रयास जारी रखने चाहिए.

इस मामले में स्थानीय मेयर, उसक पत्नी और पुलिस अधिकारियों को गिरफ़्तार किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार