मक्का: मस्जिद क्रेन हादसे की जांच शुरू

इमेज कॉपीरइट AFP

सऊदी अरब के धार्मिक शहर मक्का में शुक्रवार को एक मस्जिद में क्रेन गिरने के हादसे की जांच शुरू हो गई है.

अधिकारियों के मुताबिक घटना में कम से कम 107 लोग मारे गए हैं और 230 घायल हुए हैं. मरने वालों में दो भारतीय भी हैं और 15 घायल हुए हैं.

सऊदी अरब के सिविल सुरक्षा संस्था के प्रमुख लेफ़्टिनेंट सुलेमान बिन-अब्दुल्ला अल-अम्र ने कहा है कि घटना से हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है और ये जांच भी की जा रही है कि निर्माण स्थल कितने सुरक्षित हैं.

इमेज कॉपीरइट EPA

मस्जिद में क्रेन उस वक्त गिरी जब मस्जिद श्रद्धालुओं से भरी हुई थी. अधिकारियों के अनुसार तेज़ हवाओं और भारी बारिश से क्रेन गिरी.

इस्लामिक हेरिटेज रिसर्च फ़ाउंडेशन के इरफ़ान अल-अलावी ने बीबीसी को बताया कि मस्जिद अल-हरम चारों ओर से 15 बड़ी क्रेनों से घिरी हुई है और वहां बड़े स्तर पर पुनर्निर्माण कार्य चल रहा है.

अल-अलावी कहते हैं, “सऊदी अरब को अपने स्वास्थ्य और सुरक्षा कार्यनीति पर दोबारा विचार करना चाहिए क्योंकि दुर्घटना के वक्त इलाके में करीब आठ लाख लोग मौजूद थे.”

निर्माण को लेकर चिंता

इमेज कॉपीरइट EPA

संवाददाताओं के अनुसार सऊदी अरब में निर्माण कार्य की जगहों पर सुरक्षा को लेकर पहले भी चिंता जताई जा चुकी हैं.

मस्जिद अल-हरम दुनिया की सबसे बड़ी मस्जिद है और इस्लाम की सबसे पावन जगह काबा को घेरे हुए है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ऑनलाइन पर पोस्ट किए गए कुछ वीडियो में लोग भागते, चिल्लाते नज़र आ रहे हैं.

मक्का में वार्षिक हज की तैयारी चल रही है. कुछ ही दिनों में दुनिया भर से करीब 20 लाख लोग यहां पहुंचेंगे.

सऊदी अरब अधिकारियों ने पिछले साल भारी विस्तार की योजना पर काम शुरू किया था ताकि मस्जिद के इलाके को चार लाख वर्ग मीटर तक बढ़ाया जा सके और वहां एक साथ करीब 22 लाख लोग इकट्ठा हो पाएं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)