अब प्रवासियों को रोकने की कोशिश में यूरोप

कंटीली बाड़ से घुसते प्रवासी इमेज कॉपीरइट AFP

सीरिया और अन्य देशों के हज़ारों प्रवासियों के पिछले कुछ हफ़्तों में यूरोप में दाख़िल होने के बाद, अब कई यूरोपीय देश अपनी सीमा पर आवाजाही को सख़्ती से नियंत्रित करने के लिए कई कदम उठा रहे हैं.

ऑस्ट्रिया के वाइस चांसलर रेनोल्ड मित्तरलेनर ने 2000 से ज़्यादा सैनिकों को सीमा पर भेजने का ऐलान किया है.

उन्होंने कहा कि जर्मनी ने अपनी सीमा पर प्रवासियों को नियंत्रित करना शुरू किया तो उन्हें भी ऐसा करना पड़ रहा है.

इमेज कॉपीरइट AP

नीदरलैंड्स, स्लोवाकिया और पोलैंड ने भी कहा है कि वे अपनी सभी सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा रहे हैंने की घोषणा की है. इसके एक दिन पहले चेक गणराज्य ने भी ऐसा ही कदम उठाया था.

उधर यूरोप के गृह मंत्री सोमवार को मिल रहे हैं और पहले इस प्रस्ताव पर वोटिंग करेंगे कि पनाह लेेने वाले 40,000 शरणार्थियों को यूरोपीय संघ के अलग-अलग देशों में कोटे के तहत भेजा जाए.

इमेज कॉपीरइट AFP

पूर्व और मध्य यूरोप के देशों ने कोटा प्रणाली का विरोध किया है.

यूरोपीय संघ ने इसके बाद 23 देशों के बीच 1,60,000 शरणार्थियों को पनाह देने का फ़ैसला किया है.

इमेज कॉपीरइट EPA

सीरिया, अफ़ग़ानिस्तान और अफ़्रीकी देश इरीट्रिया से बड़ी तादाद में लोग यूरोप पंहुच रहे हैं, पर सबसे अधिक लोग सीरिया से आ रहे हैं.

ज़्यादातर शरणार्थी जर्मनी जाना चाहते हैं. इनमें से कुछ लोगों ने तो ग्रीस और हंगरी जैसे देशों में अपना पंजीकरण कराने से इंकार कर दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार