'9/11 के बाद ब्रिटेन में बड़ा आतंकी ख़तरा'

  • 17 सितंबर 2015
एंड्रयू पार्कर इमेज कॉपीरइट PA

ब्रिटेन की ख़ुफ़िया एजेंसी एमआई-5 के प्रमुख एंड्रयू पार्कर ने कहा है कि 9/11 की चरमपंथी घटना के बाद ब्रिटेन में चरमपंथी हमले का ख़तरा अभी सबसे अधिक है.

पार्कर ने बीबीसी को दिए इंटरव्यू में ये बात कही. एमआई-5 के किसी प्रमुख ने पहली बार कोई लाइव इंटरव्यू दिया है.

पार्कर ने बताया कि पिछले एक साल में आतंक फैलाने की छह घटनाओं को विफल किया गया है. पार्कर ने कहा कि चरमपंथी अपने इरादों को अंजाम देने के लिए नवीनतम तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि ऑनलाइन डेटा के कूटशब्द पुलिस और ख़ुफ़िया एजेंसियों के लिए मुश्किलें पैदा कर रहे हैं. पार्कर ने कहा, “उन लोगों के बारे में अब वैध वारंट के बग़ैर जानकारियां जुटाना मुश्किल है, जिन पर चरपमंथी होने का संदेह हो.”

'मुद्दा बेहद गंभीर'

पार्कर ने कहा कि यह मुद्दा बेहद गंभीर है. उन्होंने कहा, “चरमपंथी अपने षडयंत्र में सफल हों और अधिकारियों की पहुँच से बाहर हों, ये किसी के भी हित में नहीं है.”

इमेज कॉपीरइट PA

ख़ुफ़िया एजेंसियों को इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस का अधिकार देने के लिए मंत्री क़ानून बनाने की तैयारी कर रहे हैं.

हालाँकि पार्कर ने कहा कि इस क़ानून के अंदर क्या शामिल किया जाए, ये ‘संसद को तय करना है.’

पार्कर ने उन सुझावों को ख़ारिज कर दिया जिनमें कहा गया था कि ख़ास ठिकानों पर नज़र रखने की सुरक्षा एजेंसियों की रणनीति से ‘उग्रवाद’ बढ़ सकता है.

साथ ही उन्होंने इन आशंकाओं को भी ख़ारिज कर दिया कि सीरिया से प्रवासियों के साथ बड़ी संख्या में चरमपंथी भी यूरोप में प्रवेश कर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार