हज के दौरान भगदड़, 717 लोगों की मौत

इमेज कॉपीरइट epa

सऊदी अरब में अधिकारियों के अनुसार हज के दौरान मची भगदड़ में कम से कम 717 लोगों की मौत हो गई है और क़रीब 863 लोग घायल हो गए हैं.

हज में पिछले 25 साल के दौरान ये सबसे बड़ा हादसा है.

इससे पहले, इसी महीने हज की तैयारियों की दौरान मक्का की ग्रैंड मस्जिद में एक क्रेन के गिरने से 109 लोगों की मौत हुई थी.

इमेज कॉपीरइट AP

सऊदी अरब के सिविल डिफेंस के अधिकारियों ने ट्विटर पर जानकारी दी है कि हज के दूसरे दिन मक्का शहर से लगभग छह-सात किलोमीटर की दूरी पर बसे मीना में शैतान को कंकड़ मारने (सांकेतिक) की एक धार्मिक प्रक्रिया के दौरान हाजियों के बीच अचानक भगदड़ मच गई.

अधिकारियों के अनुसार लगभग 4000 लोगों को बचाव कार्य में लगाया गया है. इसके अलावा 220 आपात राहत टीमें भी काम कर रही हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

लगभग 25 लाख लोग हर साल हज के दौरान सऊदी अरब के धार्मिक शहर मक्का में जमा होते हैं.

कैसे हुआ हादसा?

इमेज कॉपीरइट AFP

बीबीसी हाउसा की टीआई इसोफ़ू ने बताया कि लोग कंकड़ फेंके जाने की दिशा की तरफ जा रहे थे, जबकि दूसरे लोग सामने की तरफ से आ रहे थे. तभी अचानक अफरातफरी मची और लोग नीचे गिरने लगे.

इमेज कॉपीरइट AFP

वहाँ अधिकांश लोग नाइजीरिया, निजेर, चाड और सेनेगल के थे. लोग सुरक्षित जगहों पर पहुँचने के लिए एक-दूसरे के ऊपर चढ़ने लगे और इसी कारण मरने वालों की तादाद इतनी अधिक रही.

इमेज कॉपीरइट Reuters

लोग अल्लाह का नाम ले रहे थे, जबकि भगदड़ में फंसे दूसरे लोग जिनमें बच्चे और नवजात भी शामिल हैं, चीख पुकार कर रहे थे. लोग ज़मीन पर गिरे थे और मदद मांग रहे थे, लेकिन उनकी मदद करने वाला वहाँ कोई नहीं था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार