स्विट्ज़रलैंड: फ़ोक्सवैगन कारों पर अस्थाई बैन

  • 26 सितंबर 2015
इमेज कॉपीरइट EPA

स्विट्ज़रलैंड ने जर्मन कार कंपनी फ़ोक्सवैगन के डीजल इंजन मॉडलों की बिक्री पर अस्थाई रोक लगा दी है.

दुनिया की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी ये स्वीकार कर चुकी है कि अमरीका में हुए उत्सर्जन परीक्षण में उसने धोखाधड़ी की है और इन कारों में उत्सर्जन परीक्षण को चकमा देने वाला सॉफ्टवेयर लगा है.

माना जा रहा है कि स्विट्ज़रलैंड के क़दम से उन 180,000 कारों पर असर पड़ेगा जो अभी बिकी नहीं हैं और जिनका रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है.

ये यूरो-5 एमिशन कैटगरी वाली कारें हैं.

हालांकि बिक्री पर लगी यह पाबंदी उन कारों पर लागू नहीं होगी जो सर्कुलेशन में हैं या जिनमें यूरो-6 एमिशन कैटगरी के इंजन लगे हुए हैं.

विवाद के बीच मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्टिन विंटरकोर्न के बुधवार को इस्तीफा दे दिया था और उनकी जगह मैथियास म्यूलर को नियुक्त किया गया है.

पाबंदी

इमेज कॉपीरइट Reuters

स्विट्ज़रलैंड के संघीय सड़क परिवहन मंत्रालय ने शुक्रवार को पाबंदी की घोषणा की. इससे 1.2 लीटर, 1.6 लीटर और 2.0 लीटर डीजल इंजन वाली कारें प्रभावित होंगी जिनमें ऑडी, सीट और स्कोडा ब्रांड शामिल हो सकते हैं.

स्विस अधिकारियों ने मामले की तह तक जाने के लिए एक टास्क फ़ोर्स का भी गठन किया है.

अमरीकी अधिकारियों ने आरोप लगाया था कि कारों में एक ख़ास तरह का सॉफ़्टवेयर लगा है जो प्रदूषण के स्तर की सही जानकारी नहीं देता.

इस यंत्र की मदद से ये कारें मानक स्तर से 40 गुना अधिक प्रदूषण फैलाने के बावजूद प्रयोगशाला की जांच में पास हो जाती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार