असद ने दी मध्यपूर्व में तबाही की चेतावनी

बशर अल असद इमेज कॉपीरइट AFP

सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद ने कहा है कि सीरिया, रूस, इराक़ और ईरान का गठबंधन कामयाब होना चाहिए नहीं तो समूचा मध्यपूर्व बर्बाद हो जाएगा.

असद ने अमरीकी नेतृत्व वाले गठबंधन और सीरिया और इराक़ में हो रहे उसके हवाई हमलों की भी आलोचना की.

उन्होंने कहा कि इन हमलों से सिर्फ़ चरमपंथ को बढ़ावा मिल रहा है.

इसी बीच, रूस ने सीरिया में कथित इस्लामिक स्टेट चमपंथियों पर और हवाई हमले किए हैं.

सीरियाई विपक्षी कार्यकर्ताओं का कहना है कि ऐसा लगता है कि निशाने पर अन्य विद्रोही समूह थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption रूस बुधवार से सीरिया में हवाई हमले कर रहा है.

अंदरूनी मामला

ईरान के सरकारी टीवी चैनल को दिए गए साक्षात्कार में असद ने कहा कि सीरिया, रूस, ईरान और इराक़ चरमपंथ के ख़िलाफ़ एकजुट हैं और 'व्यवहारिक नतीजे' हासिल करेंगे.

असद के अंतरराष्ट्रीय विरोधियों का कहना है कि सीरिया में चार साल से चल रहे गृह युद्ध के ख़ात्मे के लिए असद का सत्ता छोड़ना ज़रूरी है.

हालांकि फिलहाल कुछ पश्चिमी देशों का कहना है कि सत्ता परिवर्तन काल के दौरान वो पद पर बने रह सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सीरिया में रूस के ख़िलाफ़ प्रदर्शन भी हो रहे हैं.

लेकिन असद का कहना है कि 'सीरिया की राजनीतिक व्यवस्था या अधिकारियों के बारे चर्चा सीरया का अंदरूनी मामला है.'

रूस के हमले जारी

इसी बीच रविवार को रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि बीते चौबीस घंटों के दौरान रूस ने सीरिया में इस्लामिक स्टेट के 24 ठिकानों पर हवाई हमले किए हैं, जिनमें कमांडो चौकियां, गोला बारूद के भंडार और विस्फ़ोटक बनाने के ठिकाने शामिल हैं.

रूस ने कहा है कि वह बुधवार को शुरू हुए अपने हवाई अभियान का विस्तार कर रहा है.

तुर्की और ब्रिटेन ने सीरिया में रूस के हवाई हमलों की निंदा की है.

तुर्की ने इसे बड़ी भूल बताते हुए कहा है कि इससे रूस अलग-थलग पड़ जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार