गन कल्चर पर क्यों लाचार हैं ओबामा?

इमेज कॉपीरइट Reuters

ओरेगॉन के कॉलेज में नौ लोगों की हत्या के बाद अमेरिका में गन कल्चर पर एक बार फिर बहस तेज़ हो गई है.

राष्ट्रपति बराक ओबामा की कोशिशों के बावजूद अमेरिका में गन कल्चर को नियंत्रित करने के लिए क़ानूनों में बदलाव नहीं हो पा रहे हैं.

ओरेगॉन की घटना के बाद राष्ट्रपति ओबामा ने एक बार फिर गन कल्चर को बढ़ावा देने वालों की निंदा की है.

एक सर्वे का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि अमेरिका का एक बहुत बड़ा वर्ग गन कल्चर क़ानून में बदलाव चाहता है.

जुलाई के मध्य में प्यू रिसर्च सेंटर का सर्वे भी ओबामा के दावे की पुष्टि करता है.

सर्वे में शामिल लगभग 80 फ़ीसदी लोगों का मानना है कि ऐसे क़ानून की ज़रूरत है कि मानसिक रूप से बीमार लोग बंदूक न ख़रीद पाएं.

वहीं सर्वे में हिस्सा लेने वाले 70 फीसदी लोगों ने राष्ट्रीय बंदूक बिक्री पर एक डाटाबेस बनाए जाने का समर्थन किया.

क्यों राज्य कुछ नहीं करते

इमेज कॉपीरइट getty

लेकिन इस तरह के आंकड़े ज़्यादा मायने नहीं रखते है. जो बात मायने रखती है वो है अमरीकी कांग्रेस के सांसदों की राय.

और अमरीकी कांग्रेस के सदस्यों में से ज़्यादातर हथियारों के ज़्यादा नियमन के हक़ में नहीं हैं.

प्यू सर्वे से पता चलता है कि हथियारों पर रोक लगाने का समर्थन 70 फ़ीसदी डेमोक्रेट करते हैं जबकि ऐसे रिपब्लिकनों की संख्या सिर्फ़ 48 फ़ीसदी है.

कैलिफोर्निया समेत सिर्फ़ सात राज्यों ने अपने अधिकार क्षेत्र में हथियार ख़रीद पर क़ानून बनाया है.

इलिनोइस राज्य में अधिकतर लोग हथियार कानून नियंत्रण के समर्थन में है.

वहीं अलास्का, नेबरास्का और अलबामा में बहुत से लोग हथियारों के समर्थक हैं.

हाल के वर्षों में अमरीकी कांग्रेस ने हथियारों पर नियंत्रण लगाने वाले सभी प्रयासों को रोक दिया है.

कांग्रेस न केवल हाई प्रोफाइल हथियार नियंत्रण के ख़िलाफ़ है बल्कि इससे जुड़े उन उपायों के ख़िलाफ़ भी है जिनका बड़ी संख्या में अमेरिकी समर्थन करते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार