अस्पताल पर हवाई हमला 'अमरीकी ग़लती'

जॉन कैंपबेल इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी सेनाओं के प्रमुख जॉन कैंपबेल ने सीनेट के सामने अमरीका की ग़लती मानी है.

अफ़ग़ानिस्तान में अंतरराष्ट्रीय सेनाओं के अमरीकी कमांडर ने माना है कि कुंदूज़ के अस्पताल पर हवाई हमला एक ग़लती थी.

जनरल जॉन कैंपबेल ने कहा है कि अमरीका जानबूझकर कभी भी एक सुरक्षित स्वास्थ्य प्रतिष्ठान को निशाना नहीं बनाता.

कुंदूज़ में डॉक्टर्स विदाउट बॉर्डर्स (एमएसएफ़) के एक अस्पताल पर हुए हवाई हमले में कम से कम 22 लोग मारे गए थे.

युद्ध अपराध

एमएसएफ़ ने अपने अस्पताल पर हुए हमले की स्वतंत्र अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग की थी.

अपनी मांग के समर्थन के लिए एमएसएफ़ ने ट्विटर पर एक अभियान भी शुरू किया है.

संस्था का कहना है कि अफ़ग़ानिस्तान सरकार के बयान से यह मतलब निकलता है कि अस्पताल को जानबूझकर निशाना बनाया गया.

संस्था का कहना है कि यह युद्ध अपराध की स्वीकारोक्ति है.

Image caption एमएसएफ़ का कहना है कि उसके अस्पताल पर लगातार हवाई हमले किए गए

सैनिक संख्या

वाशिंगटन में सीनेट की सशस्त्र सेवा समिति के समक्ष जनरल कैंपबेल ने कहा, "स्पष्ट रूप से हवाई हमले करने का फ़ैसला अमरीका का था, जिसे अमरीकी कमांड ने ही लिया था."

जनरल कैंपबेल ने यह भी कहा कि अमरीका को 2016 के बाद अफ़ग़ानिस्तान में अपनी सैन्य मौजूदगी बढ़ाने पर भी विचार करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि नाज़ुक सुरक्षा हालातों के मद्देनज़र अमरीकी सेनाओं की संख्या में होने वाली किसी कटौती पर फिर से विचार करना पड़ सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार