वेतन के बदले सोना, कर्मचारी नाख़ुश

इमेज कॉपीरइट AFP

सर्बिया के जाने-माने सोना उत्पादन संयंत्र 'द लटारा माज़दानपेक' ने अपने कर्मचारियों को पांच महीने का वेतन देने का एक अजब तरीका निकाला है.

कंपनी ने अपने सारे 315 कर्मचारियों को 22 कैरेट का 30 ग्राम सोना दिया है. ऐसे में प्रति कर्मचारी को दिए इस सोने की कीमत क़रीब 1127 डॉलर (क़रीब 73 हज़ार रुपये) है.

ख़बरों के अनुसार कंपनी ने इसके लिए आठ किलो सोना अलग रख दिया है, अभी तक कंपनी के केवल एक कर्मचारी ने इस प्रस्ताव को ठुकराया है.

1970 में बना यह संयंत्र साल 2000 से मुश्किल वक़्त से गुज़र रहा है और इसके पुनर्गठन का काम चल रहा है.

14 अक्तूबर को इस संयंत्र के निजीकरण की प्रक्रिया शुरू होगी. लेकिन अगर यह प्रक्रिया पूरी नहीं होती है तो कंपनी खुद को दीवालिया घोषित कर देगी.

कर्मचारी नाख़ुश

इमेज कॉपीरइट Science Photo Library

कर्मचारियों का कहना है कि उनके वेतन का मूल्य गिरता जा रहा है जबकि सोने का दाम वैश्विक बाज़ार में बढ़ा है.

संयंत्र में काम करने वाली एक महिला कर्मचारी कहती हैं, "मैं और मेरे पति 32 वर्षों से इस संयंत्र में काम कर रहे हैं."

उन्होंने बताया, "पिछले पांच महीने के वेतन की जगह मुझे 31 ग्राम और मेरे पति को 36.5 ग्राम सोना मिला है. इसमें से अधिकतर तो घर के बिल अदा करने में खर्च हो जाएंगे."

वहीं कुछ कहते हैं कि कुछ को सोने की गिन्नी मिली है तो कुछ को टूटा हुआ सोना. किसी को भी पूरा वेतन नहीं मिला.

हालांकि कंपनी के निदेशक मिलिसा सेन्सकी कहते हैं, "कंपनी के पास कर्मचारियों को उनका वेतन देने का और कोई रास्ता नहीं था."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)