ब्रिटेन में जादू-टोने से जुड़े अपराध बढ़े

  • 12 अक्तूबर 2015
ब्रिटेन अंधविश्वास इमेज कॉपीरइट Getty

ब्रिटेन में अंधविश्वास और जादू टोने के मामलों में बच्चों के साथ होने वाले शोषण के मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है.

मेट्रोपोलिटन पुलिस के मुताबिक 2015 में अंधविश्वास से जुड़े अपराधों के 60 मामले सामने आए हैं जबकि 2013 में 23 और 2014 में 46 मामले सामने आए थे.

फ्रीडम टू इन्फॉर्मेशन (सूचना के अधिकार) के तहत बीबीसी को मिली जानकारी के मुताबिक ब्रिटेन की आधी पुलिस ऐसे मामले दर्ज ही नहीं करती.

वहीं, लंदन में ऐसे मामलों के लिए एक विशेष टीम बनाई गई है जिसे 'प्रॉजेक्ट वायलेट' कहा जाता है.

प्रॉजेक्ट वायलेट के टेरी शार्प ने कहा कि इन मामलों की संख्या बहुत ज़्यादा नहीं है लेकिन इनमें बढ़ोतरी देखी गई है.

उन्होंने कहा, "अंधविश्वास के कारण शारीरिक शोषण होता है और कई हत्याओं के मामले भी सामने आए हैं. "

तेज़ी से बढ़े बच्चों पर अत्याचार

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption जादू टोने के कारण 2000 में विक्टोरिया क्लाइम्बी की मौत के बाद बच्चों की सुरक्षा कानून में बदलाव लाए गए.

सूचना के अधिकार के तहत डाले गए दूसरे आवेदन से मिली जानकारी के मुताबिक बच्चों को डायन बताने या उस पर 'साया' होने के 31 मामले 2014 में दर्ज किए गए.

2013 में ऐसे 21 मामले और 2012 में 10 मामले देखे गए थे.

जिनसे संपर्क किया गया था उनमें 40 फीसदी काउंसिल आंकड़े देने में समर्थ नहीं थे.

हालांकि 2006 में ब्रितानी सरकार की रिपोर्ट में सिफारिश की गई थी कि बच्चों से जुड़े जादू टोने और डायन बताने वाले मामलों को प्रमुख रूप से दर्ज किया जाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार