विद्रोहियों के ख़िलाफ़ 'सीरियाई सेना मज़बूत'

इमेज कॉपीरइट REUTERS

सीरिया में सरकारी बलों को विद्रोहियों के ख़िलाफ़ अहम कामयाबी मिलने की ख़बरें हैं.

माना जा रहा है कि इसकी वजह एक तरफ़ सीरियाई सेना को लेबनान के शिया गुट हिज़बुल्लाह की मदद है तो दूसरी तरफ़ विद्रोही ठिकानों पर रूसी हवाई हमलों ने भी सीरियाई बलों को मज़बूत किया है.

सरकारी बलों को इदलीब, हमा और लाताकिया प्रांतों में कामयाबी मिलने की रिपोर्टें हैं.

इस बीच, रूस का कहना है कि उसके लड़ाकू विमानों ने पिछले 24 घंटों में सीरिया में 60 से ज़्यादा बार कार्रवाई की है और उनके मुख्य निशाने पर चरमपंथी गुट इस्लामिक स्टेट था.

लेकिन लगता है कि इन हमलों में उन विद्रोहियों को भी निशाना बनाया गया जो सीरिया की सरकार और इस्लामिक स्टेट, दोनों से लड़ रहे हैं.

पश्चिम का विरोध

इमेज कॉपीरइट REUTERS
Image caption सीरिया में 2011 से गृह युद्ध जारी है, जिसमें अब तक लाखों लोग मारे जा चुके हैं

मुख्य लड़ाई उन मुख्य राजमार्गों पर हो रही है जो राजधानी दमिश्क को एलेप्पो समेत देश के बड़े शहरों से जोड़ते हैं.

पश्चिमी देश सीरिया में रूस के हवाई हमलों का यह कह कर विरोध कर रहे हैं कि इससे स्थिति और जटिल होगी.

सीरियाई बलों की कामयाबी की ख़बरें राष्ट्रपति बशर अल असद की सरकार और विपक्षी कार्यकर्ताओं, दोनों की तरफ़ से मिली हैं.

बेरुत में बीबीसी संवाददाता जिम म्यूर का कहना है कि सीरिया की सरकार उन क्षेत्रों को पाने का प्रयास कर रही है जो इस साल की शुरुआत में उसके हाथ से निकल गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)