शेर का शिकार: 'लाइसेंस था उनके पास'

  • 13 अक्तूबर 2015
वाल्टर पाल्मर  और शेर. इमेज कॉपीरइट AP

ज़िम्बाब्वे के अधिकारियों ने कहा है कि शेर का शिकार करने वाले अमरीकी दंत चिकित्सक पर अब मुक़दमा नहीं चलाया जाएगा, क्योंकि उनके पास शिकार करने का क़ानूनी अधिकार था.

वाल्टर पाल्मर नाम के इस अमरीकी दंत चिकित्सक ने इस साल जुलाई में शेर का शिकार करने की बात स्वीकार की थी. लेकिन इस बात से इनकार किया कि उन्होंने यह काम ग़ैरक़ानूनी रूप से किया.

ज़िम्बाब्वे के पर्यावरण मंत्री ओफ़ मुचिंगुर ने कहा कि पाल्मर पर कोई अभियोग नहीं लगाया जाएगा क्योंकि उनके सभी कागज़ात सही थे. लेकिन जांच इस बात की जाएगी पाल्मर को लाइसेंस कैसे मिला.

तीर-धनुष से शिकार

इमेज कॉपीरइट Reuters

ओफ़ मुचिंगुर ने पहले पाल्मर को प्रत्यर्पित कर मुक़दमा चलाने की बात कही थी. हालांकि अब पता चला है कि पाल्मर ने तीर-धनुष से शेर की हत्या कर कोई क़ानून नहीं तोड़ा था.

मीडिया में पाल्मर का नाम सार्वजनिक होने के बाद की क्लीनिक और उनका घर प्रदर्शनकारियों के निशाने पर आ गया था. हालांकि दो महीने की छुट्टी के बाद अब वो काम पर लौट गए हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

उन्होंने मीडिया को बताया था कि उनकी पत्नी और बेटी को सोशल मीडिया पर धमकियां दी गईं.

माना जा रहा है कि ज़िम्ब्बावे के सबसे बड़े अभ्यारण्य में शेर के शिकार के लिए उन्होंने 50 हज़ार डॉलर दिए थे.

इमेज कॉपीरइट AP

उन्होंने पिछले महीने समाचार एजेंसी एपी और अख़बार मीनिपोलिस स्टार ट्रीब्यून से कहा था कि अगर उन्हें पता होता कि इस शेर का एक नाम है और वो देश के लिए महत्वपूर्ण है तो वो उसे नहीं मारते.

चार बार ज़िम्बाब्वे जा चुके पाल्मर ने फिर वहां जाने की संभावना से इनकार नहीं किया. उन्होंने कहा, '' मैं भविष्य के बारे में नहीं जानता. मेरे लिए ज़िम्बाब्वे शिकार का एक बेहतरीन देश बन गया है. मैंने हमेशा क़ानूनों का पालन किया.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार