विरोधियों पर गरजीं हिलेरी क्लिंटन

  • 14 अक्तूबर 2015
हिलेरी क्लिंटन इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवारी हासिल करने की दौड़ में शामिल हिलेरी क्लिंटन लस वेगस में आयोजित पार्टी की पहली बहस में विरोधियों पर जमकर बरसीं.

उन्होंने कहा कि वेतन बढ़ोतरी उनके प्रचार अभियान का प्रमुख मुद्दा था. इसके साथ ही उन्होंने कामकाजी अमरीकियों के करों में कटौती का भी वादा किया था.

उनके मुख्य प्रतिद्वंदी और वरमॉंट के सीनेटर बर्नी सैंडर्स ने कहा कि नौकरियों और शिक्षा में निवेश उनकी प्राथमिकता होगी न कि जेल.

क्लिंटन की चुनौती

सैंडर्स की रैलियों में भारी भीड़ जुट रही है. उन्होंने उन राज्यों में हिलरी क्लिंटन को कड़ी चुनौती दी है, जहां वो आगे चल रही हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

बहस के दौरान मंच पर तीन अन्य उम्मीदवार भी थे, मेरीलैंड के पूर्व गवर्नर मार्टिन ओमाले, वर्जीनिया के पूर्व सीनेटर जिम वेब और रोड आइलैंड के पूर्व सीनेटर लिंकन चैफी.

उपराष्ट्रपति जो बाइडेन ह्वाइट हाउस की रेस में आगे माने जा रहे हैं. हालांकि मंच पर न होने के बाद भी वो हावी दिखे.

बाइडेन ने अंतिम समय में इस बहस में हिस्सा लेने का फ़ैसला किया था.

विरोधियों के आरोप

क्लिंटन लंबे समय से राष्ट्रपति चुनाव की उम्मीदवारी हासिल करने की दौड़ में आगे मानी जा रही थीं. हालांकि कुछ लोग उनकी विश्वसनीयता को लेकर सवाल उठा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

इसके बाद भी उन्हें लोगों का समर्थन मिल रहा है.

विदेश मंत्री के रूप में अपने कार्यकाल में प्राइवेट ईमेल के इस्तेमाल को लेकर क्लिंटन की काफ़ी आलोचना हुई, अब वो इसे अपनी ग़लती मान रही हैं.

कुछ रिपब्लिकन नेताओं का कहना है कि क्लिंटन ने प्राइवेट ईमेल का इस्तेमाल कर क्लासीफ़ाइड सूचनाओं को ख़तरे में डाल दिया. क्लिंटन इन आरोपों से इनकार करती हैं.

सैंडर्स और क्लिंटन

सैंडर्स की सभाओं में हाल के महीनों में काफ़ी भीड़ जुटी है. उन्होंने कामकाजी लोगों के लिए आर्थिक पारदर्शिता का वादा किया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

न्यूहैंपशायर और लोवा में हुए शुरुआती वोटिंग में वो आगे हैं. उन्होंने हज़ारों छोटे-मोटे दानदाताओं से चुनावी चंदे के रूप में बड़ी रक़म जुटाई है.

हालांकि क्लिंटल दक्षिण कैरोलिना और नेवाडा जैसे राज्यों में बढ़त बनाए हुए हैं. यहां मंगलवार को बहस होनी है.

क्लिंटन और सैंडर्स अब तक एक-दूसरे की सीधी आलोचना से बचते रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार