इन सेल्फ़ियों ने ली जान

इमेज कॉपीरइट Our Naked Australia

अगर साल 2014 में लोगों ने अलग-अलग तरह से सेल्फ़ी ली तो इस साल सेल्फ़ी के स्टाइल ख़तरनाक स्तर तक पहुंच गए.

लोगों ने इसके लिए जान तक ख़तरे में डाली.

रूस के उरल पर्वत इलाक़े में कई लोगों ने तब सेल्फ़ी लेने की कोशिश की जिसमें वो हैंडग्रेनेड की पिन खींच रहे थे.

इमेज कॉपीरइट James Kingston

वहीं मॉस्को ब्रिज पर सेल्फ़ी लेते वक्त युनिवर्सिटी के एक छात्र की मौत हो गई.

एक 17 वर्षीय लड़का छत के किनारे खड़े होकर सेल्फ़ी लेने की कोशिश कर रहा था. जिसे वो इंस्टाग्राम पर डालना चाहता था.

लड़के ने पहले इस तरह की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा की थीं.

हर जगह मुश्किल

इमेज कॉपीरइट Reuters

यह मुश्किल केवल रूस में ही नहीं है. अमरीका में एक व्यक्ति बंदूक के साथ सेल्फ़ी खींच रहा था जब उसने ग़लती से खुद को गोली मार ली.

इस साल सेल्फ़ी लेते वक़्त अमरीका में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई.

इमेज कॉपीरइट INSTAGRAM

अगस्त में कोलाराडो में वॉटरटन कैनयन में कई लोग जंगली जानवरों के काफी नज़दीक जाने लगे थे जिसके बाद अधिकारियों को पार्क बंद करना पड़ा.

वॉटरटन के अधिकारी कहते हैं, "हमने देखा है कि लोग सेल्फ़ीस्टिक का इस्तेमाल करते हुए जानवरों के बहुत नज़दीक चले जा रहे हैं जो उनके लिए हानिकारक हो सकता है."

शोहरत

इमेज कॉपीरइट Getty

आख़िर लोग इस तरह की तस्वीरें लेते ही क्यों हैं? ब्राज़ील के रियो डे जेनेरिया में मौजूद ईसा मसीह की मशहूर मूर्ति के ऊपर चढ़ कर सेल्फ़ी लेने वाले ली थॉम्पसन कहते हैं, "मैंने जिस तरह की सेल्फ़ी ली लोग वैसी ही सेल्फ़ी लेकर 15 मिनट की शोहरत हासिल करना चाहते हैं."

हालांकि उन्होंने माना कि उनकी यह तस्वीर अपनी कंपनी के लिए एक पब्लिसिटी स्टंट था लेकिन उन्होंने इसके लिए अनुमति ले ली थी.

उन्होंने आगे कहा, "मैं सेल्फ़ी लेने का आदी नहीं हूं. लेकिन मैं जानता था कि इससे मेरे व्यवसाय को फ़ायदा होगा क्योंकि लोगों को सेल्फ़ी पसंद है."

इमेज कॉपीरइट Russian Minsistry of INternal Affairs
इमेज कॉपीरइट AFP

लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी माना कि ख़तरनाक सेल्फ़ी लेने का सिलसिला बढ़ता जा रहा है.

व्यक्तित्व

ओहायो युनिवर्सिटी द्वारा जारी एक अध्ययन के अनुसार सेल्फ़ी से इनसान के व्यक्तित्व के बारे में पता चलता है.

इमेज कॉपीरइट Flash Pack

इस अध्ययन में पाया गया कि जो लोग सोशल मीडिया पर अधिक सेल्फ़ी डालते हैं वो अहंकार और मनोरोग से पीड़ित होते हैं.

इमेज कॉपीरइट THINSTOCK

शोधकर्ता जेसी फॉक्स कहते हैं, "सेल्फ़ी जितनी ख़तरनाक होती है सोशल मीडिया पर उसे उतना अधिक पसंद किया जाता है."

उन्होंने आगे बताया, "सोशल मीडिया पर माना जाता है कि आपकी तस्वीर पर जितने अधिक लाइक हैं आप उतने अधिक लोकप्रिय हैं."

फॉक्स ने बताया, "आम तस्वीरें डालने से कोई फ़ायदा नहीं क्योंकि वो तो सभी डाल रहे हैं, आपको तभी लोग पूछेंगे जब आपने कुछ अलग किया होगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार