पश्चिमी तट और ग़ज़ा में हिंसा

हिंसा इमेज कॉपीरइट AFP

पश्चिमी तट और ग़ज़ा में फ़लस्तीनियों और इसराइलियों के बीच एक बार फिर हिंसा हुई है जिसमें तीन फ़लस्तीनियों के मारे जाने की ख़बर है.

चिकित्साकर्मियों का दावा है कि ग़ज़ा सीमा पर इसराइली सैनिकों के साथ हुई झड़प में दो फ़लस्तीनी मारे गए.

पश्चिमी तट में ख़ुद को पत्रकार बताने वाले एक फ़लस्तीनी ने एक सैनिक को चाक़ू मारकर घायल कर दिया जिसे बाद में गोली मार दी गई.

इस महीने दोनों पक्षों के बीच हिंसा की कई घटनाएं हुई है. इसराइल में फ़लस्तीनियों ने कई लोगों को चाक़ू मारे हैं जिसके बाद सुरक्षा-व्यवस्था बढ़ाई गई थी.

छुरेबाज़ी की घटनाओं में सात इसराइली मारे जा चुके हैं. हिंसा में कम से कम 30 फ़लस्तीनी भी मारे गए हैं.

यहूदियों के पवित्र स्थल में आग लगाई

इमेज कॉपीरइट Israel Military Spokesman

इससे पहले फ़लस्तीनी प्रदर्शनकारियों ने पश्चिमी तट के नेबुलस में मौजूद यहूदियों के पवित्र स्थल युसुफ़ के मक़बरे को आग लगा दी थी.

इसराइली फ़ौज का कहना है कि वहां मौजूद फ़लस्तीनी पुलिस प्रदर्शनकारियों को ख़देड़ने में कामयाब रही.

यहूदी युसुफ़ को अपना पैगंबर मानते हैं.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने आगज़नी और हमले की इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार