फ़िलीपींस में तूफ़ान, एक की मौत

तूफ़ान कोप्पू इमेज कॉपीरइट EPA

फ़िलीपींस में चक्रवाती तूफ़ान कोप्पू की वजह से उत्तरी इलाकों में नुकसान हुआ है और एक व्यक्ति की मौत हो गई है.

तूफ़ान की वजह से लुज़ॉन द्वीप के कासिगुरान शहर में रविवार सुबह भूस्खलन हुआ.

कोप्पू तूफ़ान से 200 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक रफ़्तार से हवाएं चली हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

खराब मौसम के कारण कई पेड़ गिर गए हैं और बिजली की तारों को भी नुकसान पहुंचा है.

तूफ़ान के कारण बाढ़ और भूस्खलन की स्थिति बनी हुई है.

मौसम वैज्ञानिकों ने तूफ़ान की वजह से फ़िलीपींस में तीन दिन बारिश, बाढ़ और भूस्खलन की चेतावनी दी है.

तूफ़ान के कारण तमाम घरेलू उड़ानों को रद्द कर दिया गया है और तटीय इलाकों से हज़ारों लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है.

हज़ारों लोगों ने घर छोड़ा

इमेज कॉपीरइट EPA

करीब 15 हज़ार लोगों को अपने घर छोड़ना पड़ा है और माना जा रहा है कि ये संख्या बढ़ेगी.

सरकारी आपदा प्रबंधन एजेंसी के अध्यक्ष एलेग्ज़ेन्डर पामा ने समाचार एजेंसी एएफपी से कहा, ''मैं कहना चाहता हूं कि ये सिर्फ शुरुआत है, लोगों को सतर्क रहना होगा. हम तूफ़ान से प्रभावित इलाकों में राहत शुरू कर रहे हैं.''

बताया जा रहा है कि मनीला में एक पेड़ गिरने से एक लड़के की मौत हो गई और चार लोग घायल हए हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

तूफ़ान के कारण तमाम घरेलू उड़ानों को रद्द कर दिया गया है और तटीय इलाकों से हज़ारों लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है.

मंगलवार तक कोप्पू के फ़िलीपींस में ही रहने की आशंका है और उसके बाद ये ताइवान की ओर बढ़ जाएगा.

इमेज कॉपीरइट EPA

फ़िलीपींस में ये तूफ़ान ऐसे समय आया है जब दो साल पहले आए तूफ़ान से हुई तबाही से देश पूरी तरह उबर भी नहीं पाया है.

नवंबर 2013 में चक्रवाती तूफ़ान हेयान की वजह से 6,300 से अधिक लोग मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार