मिस्र में पहले दिन केवल दो फीसदी मतदान

मिस्र में चुनाव इमेज कॉपीरइट Reuters

मिस्र में सोमवार के संसदीय चुनाव में दूसरे दिन का मतदान जारी है.

वहाँ 2012 में हुए तख़्तापलट के बाद पहली बार संसदीय चुनाव हो रहे हैं.

इस चुनाव में मिस्र की इस्लामी पार्टी मुस्लिम ब्रदरहुड को भाग लेने की इजाज़त नहीं है.

अधिकारियों ने मतदान में तेजी लाने के उद्देश्य से सरकारी कर्मचारियों को आधे दिन का अवकाश दिया है.

आधिकारिक अनुमान है कि रविवार को मतदान का प्रतिशत मात्र 2 फीसदी रहा और मतदान करने वाले ज्यादातर लोग बुजुर्ग थे.

आशंका जताई जा रही है कि नई संसद में राष्ट्रपति अल फतह सीसी के समर्थकों का दबदबा रहेगा. चुनाव में अधिकांश उम्मीदवार राष्ट्रपति अब्दुल फतह अल सीसी के समर्थक हैं.

मतदान का कम प्रतिशत देखते हुए टीवी चैट शो के जरिए युवाओं से अपील हो रही है कि वे राष्ट्रभक्ति दिखाते हुए आगे आकर मतदान करें.

संवाददाताओं का कहना है कि ट्विटर पर 'नोबडी वैंट टू वोट' हैशटैग काफी लोकप्रिय हो रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty

मतदान का दूसरा दौर नवंबर में संपन्न होगा और नतीजे दिसंबर की शुरुआत में आने की उम्मीद है.

मतदाता संसद के निचले सदन हाउस ऑफ़ रिप्रजेंटेटिव के लिए 596 सदस्यों का चुनाव करेंगे.

चुनाव में सुरक्षा के लिए एक लाख 85 हज़ार सुरक्षाकर्मी लगाए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार