पाक रेस्त्रां में भारतीयों को फ़्री खाना

पाकिस्तान में डनकिन डोनट का रेस्त्रां इमेज कॉपीरइट Iqbal Latif
Image caption इस रेस्त्रां चेन में भारत से आए मेहमानों को फ़्री खाना दिया जा रहा है.

पाकिस्तान में एक रेस्त्रां चेन ने भारतीय मेहमानों को फ़्री खाना खिलाने की पेशकश की है.

'द डंकिन डोनट्स' के इस्लामाबाद, लाहौर और पेशावर में 26 रेस्त्रां में शॉर्ट टर्म वीज़ा पर भारत से आए मेहमानों को फ़्री खाना परोसा जा रहा है.

इस रेस्त्रां चेन के मालिक इक़बाल लतीफ़ ने लंदन से बीबीसी को बताया, "मुंबई के भिंडी बाज़ार में पाकिस्तानी परिवार को होटल न देने की रिपोर्टों के बाद हमने सभी हिंदुस्तानी मेहमानों का स्वागत करने का फ़ैसला किया. हम मोहब्बत से शिवसेना को जबाव दे रहे हैं."

उन्होंने कहा, "हमारे इस्लामाबाद के रेस्त्रां में अब तक 17 भारतीय मेहमान आए हैं जबकि पेशावर के रेस्त्रां में दो भारतीय मेहमान पहुँचे हैं."

उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी लोगों ने भी उनकी इस मुहिम का स्वागत किया है.

इमेज कॉपीरइट Iqbal Latif
Image caption इक़बाल कहते हैं कि अगर भारत महात्मा गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी की शांति की नीति अपनाए तो दोनों देशों के बीच हालात सुधर सकते हैं.

इक़बाल लतीफ़ के मुताबिक शुक्रवार को ये मुहिम शुरू करने के बाद से उनके रेस्त्रां में आने वाले ग्राहकों की तादाद तीस प्रतिशत तक बढ़ गई है.

वे कहते हैं, "हमने अपने रेस्त्रांओं में भारत और पाकिस्तान के झंडे के साथ पोस्टर लगाए हैं. आम लोग उन्हें देखकर हाई-फ़ाइव कर रहे हैं."

क्या इस मुहिम के लिए उन्हें कोई धमकी भी मिली है? इस पर इक़बाल लतीफ़ कहते हैं, "अब तक हमें सिर्फ़ एक धमकी भरा फ़ोन आया है. उन्होंने हमारे रेस्त्रां पर प्रदर्शन की चेतावनी दी लेकिन मोहब्बत से समझाने पर वे मान गए."

उन्होंने कहा, "हम हिंदुस्तान से मोहब्बत करते हैं और हिंदुस्तान का झंडा अगर हमारे रेस्त्रां पर लगा है तो कोई आकर तोड़फोड़ नहीं कर रहा है."

इमेज कॉपीरइट Iqbal Latif
Image caption इक़बाल लतीफ़ के रेस्त्रां में इस ऑफ़र के बाद ग्राहकों की तादाद बढ़ी है.

इक़बाल कहते हैं, "भारत और पाकिस्तान के लोगों के बीच संपर्क बढ़ना ज़रूरी है. दोनों देशों के लोगों को सिर्फ़ कुछ सियासी लोगों के हाथ की कठपुतली नहीं बनना चाहिए. हमें गांधी के मोहब्बत के संदेश को आगे बढ़ाना चाहिए."

इक़बाल कहते हैं कि मौजूदा दौर में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की शांति की नीति को अपनाने की ज़रूरत है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption भारत में शिवसेना पाकिस्तान के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करती रही है.

इक़बाल कहते हैं, "हिंदुस्तानियों को हमारे फ़्री खाने की भूख थोड़े ही है. वो पूरे सम्मान से पाकिस्तान आते हैं. हम तो बस उन्हें ये बताना चाहते हैं कि हम उनसे मोहब्बत करते हैं."

क्या पाकिस्तान और भारत में शांति मुमकिन है. इस पर इक़बाल कहते हैं, "अगर हम ये सोचने लगें कि हम अपने बच्चों को कैसा माहौल दे रहे हैं तो ज़रूर मुमकिन हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार