जब नवाज़ शरीफ़ को भाषण रोकना पड़ा

नवाज़ शरीफ़ इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ को वॉशिंगटन में बुधवार को एक प्रदर्शनकारी के विरोध का सामना करना पड़ा.

यूएस इंस्टीट्यूट ऑफ पीस नामक एक थिंक टैंक में नवाज़ शरीफ़ ने जैसे ही अपना भाषण आरंभ किया, एक प्रदर्शनकारी ने शोर मचाकर उनका विरोध किया.

नवाज़ शरीफ़ का विरोध करने वाला ये प्रदर्शकारी बलूचिस्तान को पाकिस्तान से आज़ाद करने की मांग कर रहा था.

समाचार एजेंसियों के मुताबिक, प्रदर्शनकारी ने नवाज़ शरीफ़ को 'ओसामा बिन लादेन का दोस्त' बताया.

प्रदर्शनकारी के हाथ में एक पोस्टर भी था जिस पर 'बलूचिस्तान को आज़ाद करो' लिखा था.

इमेज कॉपीरइट AFP

घटना के फौरन बाद सुरक्षाकर्मियों ने प्रदर्शनकारी को ऑडिटोरियम से बाहर निकाला.

इस पूरे घटनाक्रम की वजह से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को अपना भाषण कुछ देर के लिए रोकना पड़ा.

नवाज़ शरीफ़ अमरीका की यात्रा पर गए हैं जहां उन्होंने द्विपक्षीय संबंध सुधारने के लिए राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाक़ात की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)