ग्वांतानामो जेल से रिहा आख़िरी ब्रितानी

  • 31 अक्तूबर 2015
इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption ग्वांतानामो जेल में 13 साल तक कैद में रहे

अमरीका के ग्वांतानामो जेल से आख़िरी ब्रिटेन निवासी शुक्रवार को ब्रिटेन पहुंच गए.

शाकिर आमेर को 13 वर्षों से क्यूबा स्थित अमरीकी सेना के ठिकाने पर रखा गया था.

उन पर तालिबान के एक गुट का प्रमुख होने के साथ ही ओसामा बिन लादेन से मिलने का भी आरोप था.

हालांकि आमेर कभी भी दोषी साबित नहीं हुए. ब्रिटेन ने साफ कर दिया है कि आमेर को पकड़ने का उनका कोई इरादा नहीं है.

आमेर ने ब्रिटेन पहुंचने पर कहा, "मैं सबसे पहले अल्लाह, उसके बाद अपनी पत्नी, परिवार और उसके बाद मेरे वकीलों का शुक्रिया करता हूं जिन्होंने मेरी मदद के साथ मेरे लिए दुआएं की."

48 वर्षीय आमेर की सेहत को लेकर चिंता जताई गई थी.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption शाकिर आमेर

आमेर को सबसे पहले 2001 में अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी अधिकारियों ने पकड़ा था. इस पर आमेर का कहना था कि वो वहां चैरिटी के लिए थे.

2007 के बाद से अमरीका के दो राष्ट्रपति जॉर्ज डब्लू बुश और बराक ओबामा दोनों ही उनकी रिहाई के आदेश दे चुके थे.

आमेर के वकील क्लाइव स्टेफॉर्ड स्मिथ ने बीबीसी को बताया, "आमेर केवल इतना चाहते हैं कि सच सबसे सामने आए वो किसी के ख़िलाफ कोई केस नहीं करना चाहते."

उन्होंने बताया, "पहली प्राथमिकता उनकी सेहत है जो फ़िलहाल बहुत ही ख़राब स्थिति में है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए