रूसी विमान हादसे में 'बाहरी वजह'

रूसी विमान हादसा इमेज कॉपीरइट EPA

मिस्र के सिनाई प्रायद्वीप में दुर्घटनाग्रस्त रूसी विमान की कंपनी मेट्रोजेट (कोगालीमाविया) ने कहा है कि हादसे के पीछे कोई बाहरी वजह हो सकती है.

एयरलाइन कंपनी के उच्च अधिकारी का कहना है, "जो कारण हमें समझ में आ रहा है वो बाहरी प्रभाव ही हैं."

हालांकि विमान के ब्लैक बॉक्स के डेटा की जांच कर रहे हवाई विशेषज्ञ अभी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे हैं.

वहीं, क्रेमलिन के प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया, "हम अभी किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकते हैं. जांच अभी शुरू हुई है और हम नहीं जानते की जांच का मुख्य बिंदु क्या होगा."

इमेज कॉपीरइट AP

मॉस्को में एक प्रेस कांफ्रेंस में 'मेट्रोजेट' एयरलाइन के डिप्टी निदेशक एलेग्जेन्डर स्मिरनॉव ने विमान हादसे के पीछे तकनीकी गड़बड़ी या पायलट की ग़लती को ख़ारिज कर दिया है.

एलेग्जेन्डर स्मिरनॉव ने कहा है, "विमान के हवा में ही टूट जाने का एक ही स्पष्टीकरण मिल रहा है कि या तो पूरी तरह यांत्रिक या बाहर से हुआ कोई प्रभाव है. "

इमेज कॉपीरइट Reuters

उन्होंने कहा, "सिस्टम में गड़बड़ी का ऐसा कोई मेल नहीं हो सकता जिससे विमान हवा में ही बिखर जाए."

एयरलाइन के एक अन्य अधिकारी ने कहा था कि 2001 में टेक-ऑफ़ के दौरान विमान के पिछले हिस्से से एक टुकड़ा टूट गया था.

लेकिन इसे ठीक कर दिया गया था और इससे विमान के क्रैश में कोई असर पड़ने की संभावना नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

स्मिरनॉव के मुताबिक़ एयर बस-321 ने अपना कंट्रोल खो दिया था और एकदम गिरने शुरू हो गया था.

मिस्र के शर्म-अल-शेख से विमान ने सेंट पीटर्सबर्ग के लिए उड़ान भरी थी.

विमान में 217 यात्री सवार थे जिसमें 25 बच्चे भी शामिल थे, इसके अलावा चालक दल के सात सदस्य भी विमान क्रैश में मारे गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार