उ. कोरिया ने बनाई सौर ऊर्जा वाली बस

  • 4 नवंबर 2015
सौर ऊर्जा संचालित बस इमेज कॉपीरइट Korean Central TV

उत्तर कोरिया के सरकारी टेलीविज़न ने एक ऐसे बस की तस्वीर दिखाई है जो कथित रूप से सौर ऊर्जा से चलती है.

कोरिया टाइम्स ने नॉर्थ कोरिया टीवी के हवाले से कहा है, देश के पश्चिमी शहर नाम्पो में चलने वाली इस बस पर 32 सोलर पैनल लगे हुए हैं जो 50 बैटरियों के मार्फ़त एक मोटर चलने लायक बिजली पैदा करते हैं.

शहर के टेक्नोलॉजी कमेटी के प्रवक्ता जिओंग इन-सुंग का कहना है कि यह बस 140 यात्रियों को 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से ढो सकती है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

सोलर टेक्नोलॉजी के एक विशेषज्ञ ने एक अमरीकी वेबसाइट से कहा है कि सौर ऊर्जा से संचालित बस के 140 लोगों को ढोने के दावे में ‘कोई दम’ नहीं है.

बीते फ़रवरी में कम्युनिस्ट सरकार ने सैकड़ों नारे दिए थे, इनमें से एक में कहा गया था, “ऊर्जा के लिए हवा, ज्वार भाटा, जियोथर्मल और सोलर एनर्जी को विकसित करो और इसके व्यावहारिक इस्तेमाल की कोशिश करो.”

देश में इसका अपना कोई तेल उद्योग नहीं है, इसलिए उत्तर कोरिया को अपनी ईंधन ज़रूरतों के लिए वैकल्पिक साधनों पर निर्भर रहना पड़ता है और सौर ऊर्जा संचालित बस को इस बात के सबूत के तौर पर दिखाया जा रहा है कि देश की आत्मनिर्भरता की नीति सफल है.

इस बस के अलावा, प्योंगयांग की केसीएनए न्यूज़ एजेंसी ने हाल ही में स्थानीय सामग्रियों से एक नये वॉटरप्रूफ़ पेंट विकसित किए जाने और जूते बनाने के एक नए तरीक़े खोजे जाने की तारीफ़ की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार