मालदीव में तीस दिनों के आपातकाल की घोषणा

राष्ट्रपति यामीन इमेज कॉपीरइट ap
Image caption मालदीव के राष्ट्रपति यामीन

मालदीव में राष्ट्रपति अब्दुल्लाह यामीन ने 30 दिनों के आपातकाल की घोषणा की है.

राष्ट्रपति ने एक सरकार विरोधी रैली से पहले यह क़दम उठाया है.

इस रैली का आयोजन देश के मुख्य विपक्षी दल मालीदीवियन डेमोक्रेटिक पार्टी (एमडीपी) ने किया था.

आपातकाल की घोषणा के बाद सुरक्षाबलों को पूरा अधिकार मिल जाएगा की वे संदिग्धों को गिरफ़्तार कर सकें.

मार्च में एमडीपी के नेता मोहम्मद नशीद को आतंक निरोधी क़ानून के तहत जेल भेज दिया गया था. इसकी देश भर में आलोचना हुई थी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption एमडीपी के नेता और पूर्व राष्ट्रपति मुहम्मद नशीद

राष्ट्रपति के प्रवक्ता मुआज़ अली ने ट्वीट किया, "राष्ट्रपति यामीन ने हर एक नागरिक की हिफ़ाज़त को सुनिश्चित करने के लिए आपातकाल की घोषणा की है."

एटॉर्नी जनरल मोहम्मद अनिल ने कहा कि हाल ही में विस्फोटकों के एक गुप्त भंडार और ख़तरनाक हथियारों के इस्तेमाल की साज़िश का पर्दाफ़ाश हुआ है.

सोमवार को ही अधिकारियों ने कहा था कि राष्ट्रपति निवास के नज़दीक ही उन्होंने एक बम को निरस्त किया था.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मालदीव के उपराष्ट्रपति अहमद अदीब पर देशद्रोह का इल्ज़ाम है

उन्होंने कहा, "सेना और पुलिस ने दो जगहों से हथियार और विस्फोटक बरामद किए."

"क्योंकि ये जनता और राष्ट्र के लिए ख़तरा साबित होते इसलिए नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल ने मालदीव के लोगों की हिफ़ाज़त के लिए तत्काल क़दम उठाने की सलाह दी."

पिछले कुछ हफ़्तों से मालदीव अंदरूनी राजनीतिक संघर्षों में उलझा हुआ है.

हाल में उपराष्ट्रपति अहमद अदीब को राष्ट्रपति की हत्या की साज़िश रचने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था.

एक नाव में हुए इस बम विस्फोट में राष्ट्रपति यामीन बाल बाल बचे थे लेकिन उनकी पत्नी घायल हुई थीं.

हालांकि इस विस्फोट की जांच अमरीका की गुप्तचर एजेंसी एफ़बीआई ने की थी और कहा था कि उन्हें इस बात के कोई सबूत नहीं मिले कि यह विस्फोट बम के फटने से हुआ था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)