बेरुत में धमाके, कम से कम 40 की मौत

इमेज कॉपीरइट Reuters

लेबनान की राजधानी बेरुत में हुए दो बम धमाकों की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट चरमपंथी समूह ने ली है.

बेरुत के दक्षिणी इलाक़े में हुए दो बम धमाकों में कम से कम 40 लोग मारे गए हैं और कई लोगों के घायल होने की ख़बर है.

घटना की गंभीरता को देखते हुए सरकार ने देश में राष्ट्रीय शोक की घोषणा कर दी है.

अधिकारियों का कहना है कि ये दोनों ही आत्मघाती धमाके थे. दोनों धमाके बुर्ज अल-बरानजेह ज़िले में हुए हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ये इलाक़ा शिया बाहुल्य है और यहां हिज़बुल्लाह लड़ाकों की पकड़ काफ़ी मज़बूत है.

जहां धमाके हुए हैं उसके पास फ़लस्तीनी शरणार्थियों का एक शिविर भी है.

इमेज कॉपीरइट EPA

हिज़बुल्लाह ने सीरिया में चल रहे संघर्ष में राष्ट्रपति बशर अल-असद के समर्थन में अहम भूमिका निभाई है.

जब से सीरिया में संघर्ष चल रहा है तभी से बेरुत में कई बार धमाके हो चुके हैं. इसकी वजह से लेबनान में सुरक्षा और स्थिरता को लेकर काफ़ी चिंता जताई जा रही है.

प्रधानमंत्री तामम सालम ने लोगों से एकजुटता की अपील की है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

मौजूदा बम धमाकों को 1990 में हुए लेबनान के गृह युद्ध के बाद का सबसे गंभीर धमाका माना जा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार