'पेरिस हमले से और मज़बूत होगा संकल्प'

  • 14 नवंबर 2015
विएना में सीरिया पर चर्चा इमेज कॉपीरइट EPA

विएना में सीरियाई संकट पर बहुपक्षीय वार्ता में शामिल राजनयिकों ने कहा है कि पेरिस के हमलों के बाद चरमपंथ से लड़ने की उनकी प्रतिबद्धता मज़बूत हुई है.

विएना में सीरिया में युद्धरत पक्षों का समर्थन करने वाले देशों के राजनयिक बैठक कर रहे हैं.

इस बहुपक्षीय बातचीत में अमरीका, तुर्की, रूस, सऊदी अरब, मिस्र, इराक और ईरान समेत कई देश शामिल हैं.

इस वार्ता में शामिल देश सीरिया के संकट को निपटाने में राष्ट्रपति बशर-अल-असद की भूमिका को लेकर बंटे हुए हैं.

इमेज कॉपीरइट EPA

इसके अलावा सीरिया के किन-किन विपक्षी गुटों को वार्ता में शामिल किया जाए, इस पर भी अहसमति बनी हुई है.

विएना में बीबीसी के संवाददाता ने कहा है कि शनिवार को इस बैठक में कोई अहम फ़ैसला होने की उम्मीद नहीं है.

पिछले करीब पांच साल से चल रहे सीरियाई युद्ध में ढाई लाख से ज़्यादा लोगों की मौत हो गई है.

रूस ने राष्ट्रपति असद के समर्थन में हवाई हमले शुरू किए थे.

इमेज कॉपीरइट AFP

रूस और ईरान का कहना है कि सीरिया के लोगों को ये तय करने का हक़ होना चाहिए कि वहां कौन सरकार चलाए और राष्ट्रपति असद की बदलाव में भूमिका होनी चाहिए.

अमरीका और अन्य पश्चिमी देश बशर अल असद को पद से हटाने के पक्ष में हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार