बेटी के लिए ख़रीदा 315 करोड़ का हीरा

  • 19 नवंबर 2015
इमेज कॉपीरइट Reuters

हांगकांग के एक उद्योगपति जोसेफ़ लाउ ने अपनी बेटी को लगभग 315 करोड़ रुपए का हीरा तोहफ़े में दिया.

12.03 कैरट का नीला हीरा जिनेवा में रिकॉर्ड क़रीब 315 करोड़ रुपए में नीलाम किया गया.

जोसेफ़ लाउ ने इस बात की पुष्टि की है कि उन्होंने अंगूठी में जड़े इस हीरे को अपनी सात साल की बेटी के लिए ख़रीदा है.

उन्होंने इसका नाम अपनी बेटी के नाम पर 'ब्लू मून ऑफ़ जोसेफ़ीन' रखा है.

नीलामीघर सूदबीज़ ने कहा कि इस नीलामी ने 'किसी भी रंग के किसी भी हीरे के नीलामी का नया विश्व रिकॉर्ड' बनाया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

इससे पहले हीरे की नीलामी का रिकॉर्ड 24.78 कैरट के गुलाबी हीरे 'द ग्राफ्ट पिंक' के नाम था.

इसकी नीलामी 2010 में जिनेवा में हुई थी. इसे करीब 300 करोड़ रुपए में नीलाम किया गया था.

रंगीन हीरे दुनिया में बहुत कम पाए जाते हैं.

सूदबीज़ के प्रवक्ता डेविड बेनेट ने इस नीले हीरे को 'जादुई' बताया.

उन्होंने कहा, "मैंने कभी इससे ख़ूबसूरत पत्थर नहीं देखा. इसका आकार, इसका रंग और इसकी शुद्धता सब कुछ जादुई है और मुझे लगता है कि हर कोई जिसने इसे पहना, उसे भी यही लगा होगा."

प्रॉपर्टी कारोबारी लाउ इससे पहले भी अपनी बेटी के लिए 16.08 कैरट का गुलाबी हीरा ख़रीद चुके हैं.

लाउ की प्रवक्ता ने बीबीसी न्यूज़ को बताया कि इस गुलाबी हीरे का नाम 'स्वीट जोसेफीन' रखा था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

2009 में उन्होंने अपनी बेटी के लिए 7.03 कैरट का नीला हीरा ख़रीदा था.

इस हीरे का नाम उन्होंने 'स्टार ऑफ़ जोसेफीन' रखा. यह भी उस वक्त रिकॉर्ड 62 करोड़ 70 लाख रुपए में नीलाम हुआ था.

लाउ को घूसखोरी और काला धन के मामले में 2014 में दोषी पाया गया था.

उन्हें मकाउ कोर्ट में दोषी पाने के बाद पांच साल की सज़ा भी हुई थी लेकिन उन्हें मकाउ और हांगकांग के बीच प्रत्यर्पण संधि नहीं होने की वजह से जेल नहीं हो पाई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार