कुवैत में आईएस से जुड़ी गिरफ़्तारियां

कुवैत इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption जून में शिया मस्जिद पर हुए हमले में 27 लोग मारे गए थे.

ख़बरों के मुताबिक कुवैत में एक कथित चरमपंथी सैल के सदस्यों को गिरफ़्तार किया गया है.

इन पर इस्लामिक स्टेट को हथियार और आर्थिक मदद देने का शक़ है.

सरकारी समाचार सेवा कुंता ने गृह मंत्रालय के हवाले से बताया है कि ओसामा खयात नाम के एक लेबनानी व्यक्ति ने इस्लामिक स्टेट के लिए रॉकेट और हथियार ख़रीदने की बात स्वीकार की है.

रिपोर्ट के मुताबिक़ पाँच अन्य लोगों को भी गिरफ़्तार किया गया है.

जून में कुवैत की सबसे पुरानी मस्जिदों में से एक पर हुए आत्मघाती हमले में 27 लोग मारे गए थे.

सुन्नी बहुल देश कुवैत में कई दशकों में हुआ ये सबसे बड़ा हमला था.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption चरमपंथी समूह इस्लामिक स्टेट कई देशों में हमलों की ज़िम्मेदारी ले चुका है.

चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के एक सहयोगी समूह ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली थी.

कुवैत के गृह मंत्रालय का कहना है कि ये चरमपंथी सैल नए लड़ाके भर्ती करने और पैसा जुटाने में मदद कर रहा था.

जुटा गई रकम को तुर्की में एक इस्लामिक स्टेट से संबंधित बैंक खाते में भेजा गया था.

रिपोर्ट के मुताबिक इस सैल के चार सदस्य कुवैत से बाहर के थे जिनमें दो सीरियाई और दो लेबनानी मूल के ऑस्ट्रेलियाई हैं.

अभी यह स्पष्ट नहीं है कि इन चारों को भी गिरफ़्तार किया गया है या नहीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार