माली हमला: 21 की मौत, इमरजेंसी घोषित

माली में हमला इमेज कॉपीरइट Reuters

माली के एक होटल पर शुक्रवार को हुए चरमपंथी हमले में 20 से अधिक लोग मारे गए हैं और देश में दस दिन के लिए आपात स्थिति घोषित कर दी गई है.

राजधानी बमाको के होटल रेडिसन ब्लू में इस्लामी बंदूकधारियों ने शुक्रवार सुबह हमला कर 170 लोगों को बंधक बना लिया था.

बंधकों में 20 भारतीय भी शामिल थे. भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया है कि सभी 20 भारतीय बंधक सुरक्षित हैं.

अल क़ायदा इन द इस्लामिक मगरिब और इसके सहयोगी संगठन अल मुराबिटून ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

माली के राष्ट्रपति इब्राहीम कीटा ने इस हमले में दो बंदूकधारियों सहित 21 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है.

कैबिनेट की आपात बैठक के बाद कीटा ने शुक्रवार मध्यरात्रि से देश में दस दिन के लिए आपात स्थिति लागू करने और तीन दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की.

इस बीच अमरीकी अधिकारियों ने कहा है कि होटल में अब कोई बंधक नहीं है. राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद ने इस हमले को 'घृणित कृत्य' बताया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इससे पहले आई ख़बरों में कहा गया था कि हमलों में कम से कम 27 लोग मारे गए हैं.

संयुक्त राष्ट्र के एक अधिकारी ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि होटल के बेसमेंट से 12 और दूसरे तल से 15 शव बरामद हुए हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

मरने वालों में से एक की शिनाख्त बेल्जियम के वालोनिया क्षेत्र की संसद के सदस्य जियोफ़्री डीयडोने के रूप में हुई है.

चीन की समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक़ मृतकों में चीन के तीन नागरिक भी शामिल हैं.

अमरीकी विदेश मंत्रालय का कहना है कि इस हमले में एक अमरीकी नागरिक भी मारा गया है.

इमेज कॉपीरइट EPA

अमरीकी स्वामित्व वाला यह होटल विदेशी व्यवसायियों और एयरलाइन कर्मचारियों में काफ़ी लोकप्रिय है.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक़ क़रीब 13 बंदूकधारी 'अल्लाहू अकबर' चिल्लाते हुए होटल में घुसे थे.

अमरीकी स्पेशल फ़ोर्सेज ने बचाव कार्य में मदद की. फ्रांसीसी स्पेशल फ़ोर्सेज को भी मौके पर रवाना किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार