विमानवाहक पोत से आईएस पर हमला

फ्रांस का लड़ाकू विमान इमेज कॉपीरइट AFP

फ़्रांस ने इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ अपनी कार्रवाई में पहली बार विमानवाहक पोत को शामिल किया है.

सैनिक सूत्रों के मुताबिक़ फ़्रांस ने शार्ल डी गॉल एयरक्राफ़्ट करियर से इराक़ में इस्लामिक स्टेट के ठिकानों को निशाना बनाया है.

इस नए एयरक्राफ्ट कैरियर में 26 फाइटर प्लेन हैं. इसके बाद फ्रांस की क्षमता तीन गुना हो गई है.

पेरिस हमले के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने सीरिया और इराक में आईएस के ख़िलाफ़ हमले तेज़ करने की घोषणा की थी.

इमेज कॉपीरइट PA

फ्रांस के राष्ट्रपति ओलांद ने सोमवार को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन से बात की.

वो इस हफ्ते अमरीका जर्मनी और रूस के नेताओं से भी मुलाकात करेंगे.

ओलांद ने कहा, " हम ठिकानों की पहचान करते हुए अपने हमले तेज़ करेंगे जिससे चरमपंथियों को अधिक नुकसान होने की संभावना है "

पेरिस में हुए हमले में 130 लोगों की मौत हुई थी. इस हमले के बाद फ्रांस ने इस्लामिक स्टेट के खिलाफ बमबारी तेज़ की है.

इस बीच बेल्जियम की पुलिस ने कहा है कि उसने चरमपंथियों के खिलाफ कार्रवाई में पांच और लोगों को गिरफ्तार किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार